DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

INDvsNZ: सेमीफाइनल में हार के बाद कोच शास्त्री ने बताई टीम इंडिया की खामी

ICC World Cup 2019: भारत ने चार नंबर पर लोकेश राहुल, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर और ऋषभ पंत को आजमाया, लेकिन कोई भी बल्लेबाज इस क्रम पर 50 का स्कोर नहीं बना पाया। 

ravi shastri  afp

ICC World Cup 2019, India vs New Zealand: भारत के विश्वकप के सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से हारकर बाहर हो जाने के बाद कोच रवि शास्त्री ने स्वीकार किया है कि टीम को मध्यक्रम में एक मजबूत बल्लेबाज की कमी खली। विश्वकप में भारत का मध्यक्रम जूझता रहा और सेमीफाइनल में शीर्ष क्रम के पतन के बाद संभल नहीं पाया। विश्वकप से पहले, टूर्नामेंट के दौरान और टूर्नामेंट के बाद मध्यक्रम में चार नंबर को लेकर चर्चा लगातार जारी है।

इस क्रम ने भारतीय बल्लेबाजी को कमजोर किया, खासतौर पर सेमीफाइनल में। भारत ने चार नंबर पर लोकेश राहुल, हार्दिक पांड्या, विजय शंकर और ऋषभ पंत को आजमाया, लेकिन कोई भी बल्लेबाज इस क्रम पर 50 का स्कोर नहीं बना पाया। 

CWC 2019: बड़ी दिक्कतों से पार के बाद ही होगा टीम इंडिया का बेड़ापार

'हमें मध्यक्रम में एक मजबूत बल्लेबाज की जरुरत'
कोच रवि शास्त्री ने एक अंग्रेजी समाचार पत्र से कहा, “हमें मध्यक्रम में एक मजबूत बल्लेबाज की जरुरत थी। विश्वकप का सफर समाप्त हो चुका है और हमें भविष्य की तरफ देखना होगा। इस क्रम ने हमें हमेशा परेशान और हम इसका हल नहीं निकाल पाए।” 

कोच ने कहा, “राहुल चार नंबर पर थे, लेकिन शिखर धवन के चोटिल होने के बाद उन्हें ओपनिंग पर जाना पड़ा। विजय शंकर भी थे लेकिन वह भी चोटिल हो गए और हम हालात को नियंत्रित नहीं कर पाए।” 

World Cup 2019 Final में पहुंचकर भी निराश हैं मार्टिल गप्टिल, जानें क्यों

मयंक अग्रवाल को लेकर कही ये बात
विजय शंकर के चोटिल होने के बाद ओपनर मयंक अग्रवाल को बुलाए जाने पर शास्त्री ने कहा, “जबतक मयंक हमसे जुड़े ज्यादा समय नहीं बचा था। यदि सेमीफाइनल से पहले हमारे पास एकाध मैच और होता तो हम निश्चित रुप से कोशिश कर सकते थे कि मयंक को आजमा लिया जाए।”

धौनी को 7वें नंबर पर उतारे जाने का किया बचाव
महेंद्र सिंह धौनी को बल्लेबाजी क्रम में सातवें नंबर पर उतारे जाने के फैसले पर कोच ने कहा, “हम नहीं चाहते थे कि धौनी जल्दी उतरें और यदि वह जल्दी आउट हो जाते तो लक्ष्य का पीछा करना असंभव हो जाता। हम बाद में अनुभव को चाहते थे और सभी जानते हैं कि वह कितने बड़े फिनिशर हैं। इस मुद्दे पर पूरी टीम एकमत थी कि धोनी को बाद में उतारा जाए।”

पूर्व केंद्रीय मंत्री का दावा- क्रिकेट से संन्यास के बाद BJP में शामिल हो सकते हैं एमएस धौनी

धौनी के रनआउट पर जताई निराशा
रवि शास्त्री ने साथ ही कहा, “धौनी शानदार खिलाड़ी हैं और यदि वह दुर्भाग्यपूर्ण ढ़ंग से रनआउट नहीं होते तो उनका समीकरण बिल्कुल सही चल रहा था कि किस बॉल को हिट करना है और जेम्स नीशम के आखिरी ओवर में कितना लक्ष्य रखना है। वह टीम को जीत दिलाना चाहते थे, लेकिन इस तरह रन आउट होने की निराशा को आप उनके पवेलियन लौटते समय उनके चेहरे पर देख सकते थे।”

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Team india coach ravi shastri says needed a solid batsman out there in middle order