फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटसाल भर प्रयोग, रोहित शर्मा-विराट काेहली पर भरोसा; टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम सेलेक्शन के अंदर की कहानी

साल भर प्रयोग, रोहित शर्मा-विराट काेहली पर भरोसा; टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम सेलेक्शन के अंदर की कहानी

India T20 World Cup Squad :अगर टी-20 वर्ल्डकप साल भर पहले हुआ होता तो संभवत: न रोहित कप्तान होते और न ही विराट कोहली को टीम इंडिया में जगह मिलती। तब बीसीसीआई के प्लान में रोहित-विराट शामिल नहीं थे।

साल भर प्रयोग, रोहित शर्मा-विराट काेहली पर भरोसा; टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम सेलेक्शन के अंदर की कहानी
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 30 Apr 2024 07:36 PM
ऐप पर पढ़ें

India T20 World Cup Squad :अगर टी-20 वर्ल्डकप साल भर पहले हुआ होता तो संभवत: न रोहित कप्तान होते और न ही विराट कोहली को टीम इंडिया में जगह मिलती। जीहां, उस वक्त जिस प्लान पर बीसीसीआई काम कर रहा था, उसमें रोहित और विराट शामिल नहीं थे। टी20 विश्वकप 2024 में युवा टीम उतारने की योजना पर काम चल रहा था। इसके तहत युवा प्रतिभाओं को मौके दिए जा रहे थे। फ्यूचर लीडरशिप पर जोर दिया जा रहा था। टी-20 की कप्तानी हार्दिक पांड्या से लेकर सूर्यकुमार यादव तक को दी गई। दिसंबर में तो हार्दिक पांड्या को टी-20 में फुलटाइम कप्तान बनाने तक का प्लान बन चुका था। फिर अचानक इसी साल जनवरी में अचानक बीसीसीआई ने यू-टर्न लिया। अफगानिस्तान के खिलाफ टी-20 सिरीज में रोहित और कोहली की वापसी हुई। यह टी-20 विश्वकप से पहले टीम इंडिया की आखिरी इंटरनेशनल सिरीज थी।

खत्म करना चाहेगी आईसीसी ट्रॉफी का सूखा
यह भी दिलचस्प है कि पिछले टी-20 वर्ल्डकप में टॉप-तीन में से दो बल्लेबाजों के खराब प्रदर्शन को भारत की समस्या माना गया था। अब आखिर इनमें से दो बल्लेबाज अमेरिका और कैरेबियन में होने वाले टी-20 विश्वकप में भारतीय टीम के सदस्य हैं। असल में पिछले एक साल की कवायद के बाद बीसीसीआई को भी यह बात समझ में आ चुकी है कि सिर्फ युवाओं के भरोसे टी-20 विश्वकप जैसा बड़ा टूर्नामेंट नहीं जीता जा सकता। अगर भारत को आईसीसी ट्रॉफी का सूखा खत्म करना है तो उसे आजमाए हुए घोड़ों पर ही दांव लगाना होगा। इसी योजना के तहत विराट कोहली और रोहित शर्मा को टीम इंडिया में जगह मिली।

लगातार चल रही थी स्टडी
पिछले साल भले भारत 50 ओवरों का विश्वकप खेल रहा था, वह टी20 में जीत का फॉर्मूला भी तलाश रहा था। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक इसके लिए बीसीसीआई ने दुनिया भर की टॉप-टी2 टीमों के सक्सेस फॉर्मूला की स्टडी की। इतना ही नहीं, भारत ने पिछले 12 महीने में अलग-अलग फॉर्मेट की टीमें रखने पर जोर दिया है। टी-20 में ईशान किशन, यशस्वी जायसवाल, रिंकू, तिलक वर्मा, जितेश शर्मा और अक्षर लगातार खेल रहे थे। लेकिन 2023 के वनडे वर्ल्डकप में रोहित ने अपना नया रूप दिखाया। इसके अलावा विराट कोहली ने भी दिखाया कि तीन नंबर पर उनके रनों की भूख कम नहीं हुई है। इसी के चलते बीसीसीआई ने इन दोनों को साथ लेकर चलने पर जोर दिया।