फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटसूर्यकुमार यादव ने भी नहीं तोड़ा धोनी का सालों पुराना ट्रेंड, सीरीज जीतने के बाद इन्हें थमाई ट्रॉफी; देखें शानदार वीडियो

सूर्यकुमार यादव ने भी नहीं तोड़ा धोनी का सालों पुराना ट्रेंड, सीरीज जीतने के बाद इन्हें थमाई ट्रॉफी; देखें शानदार वीडियो

सूर्यकुमार यादव ने सीरीज जीतने के बाद टीम में शामिल युवा खिलाड़ी रिंकू सिंह और जितेश शर्मा को ट्रॉफी उठाने का अवसर दिया। बीसीसीआई ने इस शानदार पल का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है।

सूर्यकुमार यादव ने भी नहीं तोड़ा धोनी का सालों पुराना ट्रेंड, सीरीज जीतने के बाद इन्हें थमाई ट्रॉफी; देखें शानदार वीडियो
Lokesh Kheraलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 04 Dec 2023 10:13 AM
ऐप पर पढ़ें

पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने सालों पहले सीरीज जीतने के बाद युवाओं को ट्रॉफी के साथ जश्न मनाने देने का ट्रेंड शुरू किया था। धोनी के बाद कई कप्तान बदले मगर यह ट्रेंड किसी भी कप्तान ने टूटने नहीं होने दिया। माही के बाद लंबे समय तक विराट कोहली और रोहित शर्मा ने टीम की अगुवाई की वहीं बीच-बीच में हार्दिक पांड्या, अजिंक्या रहाणे के साथ कई और कप्तानों को भी कुछ सीरीज में टीम को लीड करने का मौका मिला। कप्तान बदलते रहे मगर धोनी द्वारा शुरू किया गया ये ट्रेंड कभी नहीं टूटा। रविवार ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 5 मैच की टी20 सीरीज को 4-1 से जीतने के बाद सूर्यकुमार यादव ने भी इस प्रथा को जारी रखा। बता दें, सूर्यकुमार यादव को इस सीरीज में पहली बार टीम की अगुवाई करने का मौका मिला था।

ENG vs WI: मैच विनिंग शतक के बाद शाई होप ने किया एमएस धोनी को याद, बताया कैसे काम आई उनकी दी सीख

सूर्या ने सीरीज जीतने के बाद टीम में शामिल युवा खिलाड़ी रिंकू सिंह और जितेश शर्मा को ट्रॉफी उठाने का अवसर दिया। बीसीसीआई ने इस शानदार पल का वीडियो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया है, फैंस इस वीडियो को खूब पसंद कर रहे हैं।

ऋतुराज गायकवाड़ से लेकर रवि बिश्नोई तक...इंडिया वर्सेस ऑस्ट्रेलिया टी20 सीरीज में रहा भारतीय खिलाड़ियों का जलवा

सीनियर खिलाड़ियों की गैरमौजूदगी में इस सीरीज के लिए एक युवा टीम चुनी गई जिसकी अगुवाई करने का मौका सूर्यकुमार यादव को मिला। जब सीरीज शुरू हुई तो हर कोई प्लेइंग 11 को लेकर चिंतित था। दरअसल, हर खिलाड़ी ने आईपीएल व डोमेस्टिक क्रिकेट में अच्छा किया है, ऐसे में पहले 11 में किसे चुने यह बड़ा मुश्किल सवाल था।

अर्शदीप सिंह ने खोला राज, बताया आखिरी ओवर से पहले सूर्यकुमार यादव से क्या हुई थी बातचीत?

विशाखापट्टनम से शुरू हुई इस सीरीज पहले दो मुकाबले जीतकर भारतीय युवा खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा का जौहर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दिखाया। हालांकि इसके बाद तीसरे मुकाबले में जरूर ग्लेन मैक्सवेल की शतकीय पारी के चलते भारत को हार का सामना करना पड़ा। टीम इस हार से बैकफुट पर नहीं गई, बल्कि ऑस्ट्रेलिया पर और कड़ा प्रहार करते हुए अगले दो मैचों में जीत दर्ज कर सीरीज अपने नाम की।

इस सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों से लेकर विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों की सूची में भारतीयों का जलवा रहा। ऋतुराज गायकवाड़ 223 रनों के साथ सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे, वहीं रवि बिश्नोई ने सर्वाधिक 9 विकेट चटकाए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें