DA Image
हिंदी न्यूज़ › क्रिकेट › सुनील गावस्कर ने सुझाए चौंकाने वाले दो खिलाड़ियों के नाम, जो ले सकते हैं हार्दिक पांड्या की जगह
क्रिकेट

सुनील गावस्कर ने सुझाए चौंकाने वाले दो खिलाड़ियों के नाम, जो ले सकते हैं हार्दिक पांड्या की जगह

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Wed, 28 Jul 2021 10:27 AM
सुनील गावस्कर ने सुझाए चौंकाने वाले दो खिलाड़ियों के नाम, जो ले सकते हैं हार्दिक पांड्या की जगह

श्रीलंका के मौजूदा दौरे पर ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की खराब फॉर्म टीम इंडिया का सिरदर्द बनी हुई है। इस साल युनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) और ओमान में अक्टूबर-नवंबर के बीच टी20 वर्ल्ड कप खेला जाना है, इससे पहले हार्दिक की खराब फॉर्म ने टीम मैनेजमेंट की टेंशन बढ़ा दी है। हार्दिक ना बैट से कमाल दिखा पाए हैं और ना ही गेंद से। बैक इंजरी से वापसी करने के बाद से हार्दिक पांड्या की गेंदबाजी को जैसा लग रहा है जंग सी लग गई है, लेकिन वह ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के दम पर लगातार टीम में बने हुए हैं। इस दौरे पर पांड्या अपने मन मुताबिक बड़े शॉट्स भी नहीं खेल पा रहे हैं। टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने दो ऐसे नाम सुझाए हैं, जो हार्दिक पांड्या की जगह ले सकते हैं।

श्रीलंका में वनडे सीरीज के दौरान हार्दिक को दो पारियों में बल्लेबाजी का मौका मिला, एक मैच में तो वह खाता भी नहीं खोल पाए। टी20 सीरीज के पहले मैच में उन्होंने 12 गेंद पर 10 रन बनाए। गावस्कर का मानना है कि दीपक चाहर और भुवनेश्वर कुमार दो ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन पर अगर ढंग से काम किया जाए, तो ये दोनों हार्दिक पांड्या की जगह ले सकते हैं। गावस्कर ने स्पोर्ट्स तक पर कहा, 'बिल्कुल टीम इंडिया के पास बैक-अप है। आपने हाल में दीपक चाहर को देखा, उन्होंने साबित किया कि वह एक ऑलराउंडर बन सकते हैं। आपने भुवनेश्वर कुमार को वह मौका ही नहीं दिया। दो-तीन साल पहले जब भारत श्रीलंका में खेल रहा था तब भी मैच की परिस्थितियां दूसरे वनडे (श्रीलंका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज के दूसरे मैच) जैसी थीं, भारत ने सात-आठ विकेट गंवा दिए थे और धोनी के साथ मिलकर भुवी ने टीम को जीत दिलाई थी।'

चाहर ने श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे इंटरनेशनल मैच में नॉटआउट 69 रनों की पारी खेली थी। गावस्कर ने कहा, 'आपने इस बारे में कभी सोचा ही नहीं, लेकिन ये दोनों ऑलराउंडर हो सकते हैं। इनमें बैटिंग टैलेंट है। आप बस एक शख्स पर फोकस करके बैठे हैं। पिछले दो-तीन सालों में यह हुआ कि जिन्हें मौका मिलना चाहिए था, उनको मौका ही नहीं मिला।'

संबंधित खबरें