फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट...कोई शर्म की बात नहीं है; सुनील गावस्कर ने कुछ इस अंदाज में बढ़ाया टीम इंडिया का हौसला

...कोई शर्म की बात नहीं है; सुनील गावस्कर ने कुछ इस अंदाज में बढ़ाया टीम इंडिया का हौसला

सुनील गावस्कर ने कहा 'मैं दुखी हूं लेकिन हमें इस भारतीय टीम पर बहुत गर्व होना चाहिए। कभी-कभी यह हमारे अनुकूल नहीं होता है, लेकिन उन्होंने बेहतरीन क्रिकेट खेली है। मुझे उन पर बहुत गर्व है।'

...कोई शर्म की बात नहीं है; सुनील गावस्कर ने कुछ इस अंदाज में बढ़ाया टीम इंडिया का हौसला
Lokesh Kheraलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीMon, 20 Nov 2023 07:47 AM
ऐप पर पढ़ें

वर्ल्ड कप 2023 में भारत की झकझोर देने वाली हार के बाद पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया का हौसला बढ़ाया है। गावस्कर का कहना है कि बेहतर टीम से हारना कोई शर्म की बात नहीं है, इसी के साथ उनका कहना है कि उन्हें इस टीम पर बहुत गर्व है। बता दें, रोहित शर्मा की अगुवाई में यह भारतीय टीम पूरे टूर्नामेंट के दौरान लजावाब खेली। लीग स्टेज के सभी 9 मैच जीतने के साथ भारत ने सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड की मुश्किल चुनौती भी पार की। टीम इंडिया के विजय रथ को देखकर ऐसा लग रहा था कि भारत इस बार आईसीसी खिताब के सूखे को खत्म कर देगा, मगर एक खराब दिन ने टीम इंडिया के ट्रॉफी जीतने के सपने को तोड़ दिया। ऑस्ट्रेलिया ने वर्ल्ड कप 2023 फाइनल में भारत को 6 विकेट से हराया।

World Cup 2023 Award Winners List: गोल्डन बैट से लेकर प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट तक, 12 में से 6 अवॉर्ड भारतीयों के नाम; देखें लिस्ट

भारत की इस हार के बाद सुनील गावस्कर ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा 'मैं दुखी हूं लेकिन हमें इस भारतीय टीम पर बहुत गर्व होना चाहिए। कभी-कभी यह हमारे अनुकूल नहीं होता है, लेकिन उन्होंने बेहतरीन क्रिकेट खेली है। मुझे उन पर बहुत गर्व है। एक बेहतर टीम से हारना कोई शर्म की बात नहीं है। ऑस्ट्रेलिया आज काफी बेहतर टीम थी।'

बाबर आजम ने लिया विराट कोहली से 'बदला'? वर्ल्ड कप फाइनल के बाद छिड़का भारत के जले पर नमक

कैसा रहा इंडिया वर्ससे ऑस्ट्रेलिया फाइनल

टॉस हारकर पहले बैटिंग करने उतरी टीम इंडिया को रोहित शर्मा ने एक बार फिर तूफानी शुरुआत दी, हालांकि कप्तान एक बार फिर बड़ा स्कोर करने से चूंक गए और 47 के निजी स्कोर पर अपना विकेट थ्रो करके पवेलियन लौट गए। रोहित से पहले गिल आउट हुए थे, तो वहीं उनके बाद श्रेयस अय्यर को भी ऑस्ट्रेलिया ने डग आउट की राह दिखाई। तीन विकेट गिरने के बाद भारत प्रेशर में था, विराट कोहली और केएल राहुल ने कुछ हद तक पारी को संभाला, मगर जब रन गति बढ़ाने की बारी आई तो कोहली 54 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। केएल राहुल ने दूसरे छोर पर 107 गेंदों पर 66 रन बनाकर लड़ाई लड़ी, मगर वह भी टीम को सम्मान जनक स्कोर तक नहीं पहुंचा पाए। टीम इंडिया निर्धारित 50 ओवर में 240 रनों पर सिमट गई। टूर्नामेंट में पहली बार भारतीय टीम ऑलआउट हुई है।

रोहित शर्मा ने किस पर फोड़ा फाइनल की हार का ठीकरा, बोले अगर ऐसा होता तो...

इस स्कोर का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलिया को भी अच्छी शुरुआत नहीं मिली, जसप्रीत बुमराह ने दो तो मोहम्मद शमी ने एक विकेट लेकर कंगारुओं को बैकफुट पर धकेल दिया था...मगर ट्रेविस हेड ने इसके बाद अपने पैर जमाए और दूसरे छोर से उन्हें मार्नस लाबुशेन का साथ मिला। दोनों के बीच चौथे विकेट के लिए 192 रनों की मैच जिताऊ साझेदारी हुई। हेड ने 120 गेंदों पर 137 रन बनाए, वहीं लाबुशेन ने 110 गेंदों पर 58 रनों की नाबाद पारी खेली।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें