फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटस्टुअर्ट ब्रॉड को हमेशा रहेगा इस बात का मलाल, आखिरी मुकाबले के बाद छलका दर्द

स्टुअर्ट ब्रॉड को हमेशा रहेगा इस बात का मलाल, आखिरी मुकाबले के बाद छलका दर्द

इंग्लैंड के पेसर स्टुअर्ट ब्रॉड को हमेशा इस बात का मलाल रहेगा कि उन्होंने एशेज सीरीज के पहले टेस्ट मैच में आखिरी में नई बॉल क्यों ली, क्योंकि इससे ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को रन बनाने में आसानी हुई। 

स्टुअर्ट ब्रॉड को हमेशा रहेगा इस बात का मलाल, आखिरी मुकाबले के बाद छलका दर्द
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 01 Aug 2023 10:05 AM
ऐप पर पढ़ें

एशेज सीरीज 2023 के अंतिम टेस्ट मैच के बाद इंग्लैंड के पेसर स्टुअर्ट ब्रॉड ने इंटरनेशनल क्रिकेट से विदाई ले ली। आखिरी मैच में ऑस्ट्रेलियाई टीम के अंतिम दो विकेट चटकाकर स्टुअर्ट ब्रॉड ने कमाल कर दिया। इंग्लैंड ने लंदन के ओवल में खेले गए पांच मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मुकाबले में 49 रनों से जीत दर्ज कर सीरीज बराबरी की। हालांकि, इस सीरीज में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को अपने रिटायरमेंट के बाद एक पछतावा इस सीरीज से जुड़ा रहेगा, जिसके बारे में उन्होंने मैच के बाद खुलासा किया। 

इंग्लैंड की टीम ने 5 मैचों की इस सीरीज में 0-2 से पिछड़ने के बाद 2-2 से सीरीज को बराबर किया। एक मैच बारिश के कारण पूरा नहीं हुआ। अगर वह मैच पूरा हुआ होता तो इंग्लैंड की टीम सीरीज जीत सकती थी। इसके अलावा सीरीज के पहले मैच में भी इंग्लैंड के पास जीतने का मौका था, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने 2 विकेट से बाजी मारी थी। इसी मैच में स्टुअर्ट ब्रॉड से एक गलती हुई थी, जिसका पछतावा उनको सीरीज के आखिरी दिन हुई। उन्होंने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में बताया कि उनको अपने क्रिकेट करियर में किसका खेद होगा। 

तेज गेंदबाज ने कहा कि उन्हें इस बात का दुख है कि एजबेस्टन में पहले टेस्ट मैच के अंतिम दिन उन्होंने नई गेंद चुनी। उन्होंने कहा, "मुझे क्रिकेट को लेकर ज्यादा पछतावा नहीं है, लेकिन मुझे एजबेस्टन में नई गेंद नहीं लेनी चाहिए थी। हम इसके साथ अधिक मौके बनाने में विफल रहे और इससे कमिंस और लियोन को बल्लेबाजी करना आसान हो गया। अगर मैं समय को पीछे घुमा सकता तो मैं पुरानी गेंद से गेंदबाजी करता, लेकिन अंत में जब आप ऑस्ट्रेलिया जैसी महान टीम से हारते हैं, तो आपको अपना सिर ऊंचा रखना होता है।" 

टीम इंडिया के साथ नहीं दिखे विराट कोहली तो फैंस ने उठाए सवाल, पूछा- कहां हैं मेरे भगवान?

तेज गेंदबाज ब्रॉड ने बेल्स से छेड़छाड़ के बाद दो ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को आउट कराने का अनोखा कमाल किया। उनको टेस्ट संन्यास की याद दिलाएगा। ब्रॉड ने दोनों पारियों में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों (मार्नस लाबुशेन और टॉड मर्फी) के साथ कुछ माइंड गेम खेले और उनकी एकाग्रता को बाधित करने की कोशिश की। दोनों ही मामलों में बल्लेबाज आउट हो गए, जिससे इंग्लैंड को गेंद से अपनी सुस्ती तोड़ने में मदद मिली। इस बेल-ट्रिक पर उन्होंने कहा, "अगर मुझे 10 साल पहले इसका एहसास हुआ होता, तो यह बहुत अच्छा होता। मार्नस के आउट होने से मुझे हंसी आ गई। थोड़ा निराशाजनक मैच हो रहा था, इसलिए बेल्स बदलने का फैसला किया और यह काम कर गया (स्माइल के साथ वह बोले)।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें