फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटभारत को विदेशी टी20 लीग में खेलना चाहिए, अनिल कुंबले की बात से स्टीफन फ्लेमिंग भी सहमत

भारत को विदेशी टी20 लीग में खेलना चाहिए, अनिल कुंबले की बात से स्टीफन फ्लेमिंग भी सहमत

भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले और न्यूजीलैंड के स्टीफन फ्लेमिंग चाहते हैं कि बीसीसीआई युवा खिलाड़ियों को अनुभव हासिल करने के लिए दुनिया भर में विभिन्न टी20 लीग में भाग लेने की अनुमति दे।

भारत को विदेशी टी20 लीग में खेलना चाहिए, अनिल कुंबले की बात से स्टीफन फ्लेमिंग भी सहमत
Himanshu Singhएजेंसी,नई दिल्लीFri, 11 Nov 2022 10:57 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारतीय दिग्गज अनिल कुंबले के बाद न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग का भी मानना ​​है कि भारत को अगले टी20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए विदेशी लीग विशेषकर कैरेबियाई प्रीमियर लीग में खेलने पर विचार करना चाहिए। आईपीएल में दुनिया भर के खिलाड़ियों को भाग लेने की अनुमति होती है, लेकिन बीसीसीआई किसी भी सक्रिय भारतीय क्रिकेटर को इन विदेशी लीग में भाग लेने की मंजूरी नहीं देता है।

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) अपने खिलाड़ियों को विदेशी लीग में खेलने की अनुमति नहीं देता है। भारतीय खिलाड़ियों की कमजोरी टी20 विश्व कप के सेमीफाइनल में खुलकर सामने आई, जहां उसे इंग्लैंड के हाथों 10 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। बिग बैश लीग में खेलने वाले एलेक्स हेल्स और जोस बटलर ने भारतीय गेंदबाजों की धज्जियां उड़ा दी थी।

फ्लेमिंग ने ईएसपीएन क्रिकइंफो से कहा, ''इस पर विचार किया जा सकता है विशेषकर तब जबकि आप कमेंटेटरों से एडिलेड ओवल में हेल्स के अनुभव के बारे में सुनते हैं।'' उन्होंने कहा,'' ऐसा लगता है कि वे खिलाड़ी जो विश्वभर में खेलते हैं उन्हें वास्तव में इन घरेलू टूर्नामेंट में खेल कर महत्वपूर्ण अनुभव हासिल होता है और इसके बाद अधिक सहज होकर खेलते हैं।''

T20 WC: इमरान खान और बाबर आमज की टीम में क्या है समानता? क्या पाकिस्तान दोहराएगा इतिहास

फ्लेमिंग ने कहा कि अगला टी20 विश्व कप दो साल में वेस्टइंडीज में होना है और भारतीयों का वहां लीग में खेलना बुरा विचार नहीं हो सकता। उन्होंने कहा,'' कैरेबियाई प्रीमियर लीग अधिक महत्वपूर्ण बन गया है क्योंकि अगला विश्वकप कैरेबियाई क्षेत्र में खेला जाएगा। आप इस टूर्नामेंट में जितने खिलाड़ियों को खेलने भेजेंगे उन्हें वहां की परिस्थितियों का अच्छा पता होगा और विश्वकप में इसका फायदा मिलेगा।'' 

केविन पीटरसन की ये बात पाकिस्तान फैंस पचा नहीं पाएंगे, फाइनल से पहले की बड़ी भविष्यवाणी

अनिल कुंबले ने 'ईएसपीएनक्रिकइंफो' से कहा, ''मुझे लगता है कि एक्सपोजर (वहां के हालात में खेलने का अनुभव) निश्चित रूप से मदद करता है। हमने इसे भारतीय क्रिकेट के विकास में मदद करते हुए देखा है। आईपीएल में विदेशी खिलाड़ियों के आने से भारतीय क्रिकेट को निश्चित रूप से मदद मिली है।''