DA Image
5 जुलाई, 2020|3:37|IST

अगली स्टोरी

इरफान पठान का खुलासा- फिटनेस टेस्ट में बस किसी तरह पासिंग मार्क्स के साथ पास होते थे सौरव गांगुली

sourav ganguly and irfan pathan  twitter

सौरव गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया में काफी बदलाव आए थे। गांगुली आक्रामक कप्तान थे और उन्होंने टीम को भी उसी तरह से तैयार किया। गांगुली के समय में हालांकि टीम इंडिया के खिलाड़ियों की फिटनेस कुछ खास नहीं हुआ करती थी। उस समय यो-यो टेस्ट नहीं होता था, लेकिन खिलाड़ियों को बीप टेस्ट पास करना होता था। टीम में बने रहने के लिए बीप टेस्ट में कप्तान गांगुली महज पासिंग मार्क ला पाते थे। टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर इरफान पठान ने इसका खुलासा किया है।

नासिर हुसैन ने मार्क वॉ को बताया सबसे टैलेंटेड बल्लेबाज, बताई यह वजह 

कोविड-19 महामारी के चलते दुनिया के तमाम क्रिकेट इवेंट्स स्थगित या रद्द हो चुके हैं। इस बीच क्रिकेटर्स सोशल मीडिया के जरिए फैन्स के साथ जुड़े हुए हैं। यूसुफ पठान और मोहम्मद कैफ के बीच लाइव इंस्टाग्राम चैट के दौरान बीच में इरफान पठान कूद पड़े थे। दरअसल क्रिकेटरों की फिटनेस की चर्चा हो रही थी, जिस पर कैफ ने कहा था कि अगर हमारे समय पर यो-यो टेस्ट होता तो मैं, लक्ष्मीपति बालाजी और युवराज सिंह ही वो टेस्ट पास कर पाते। इस पर इरफान बीच में कूदे और कहा- 'हम क्या चने बेच रहे थे।'

क्रेजी लाइटनिंग के साथ धोनी ने करवाई जीवा को बाइक पर सैर- VIDEO

इसके बाद पठान ने खुलासा किया कि गांगुली बीप टेस्ट में जो बेंचमार्क सेट किया था, बस वहीं तक पहुंचकर किसी तरह टेस्ट पास किया करते थे। पठान ने कहा, 'लेकिन मुझे याद है कि दादा किसी तरह 12 (पासिंग मार्क) के स्कोर के साथ किसी तरह फिटनेस टेस्ट पास करते थे।' कैफ को अपने समय का बेस्ट फील्डर कहा जाता है, वहीं इरफान पठान के करियर का आगाज धांसू रहा था, हालांकि दोनों ही क्रिकेटर भारत के लिए ज्यादा इंटरनैशनल मैच नहीं खेल सके। इरफान ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे इंटरनैशनल और 24 टी20 इंटरनैशनल मैच खेले, जबकि कैफ ने 13 टेस्ट, 125 वनडे इंटरनैशनल मैच खेले हैं।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Sourav Ganguly managed to get passing mark in fitness test in his time revealed by irfan pathan