Shoaib Akhtar Slams Sarfraz Ahmed For His Racist Remarks but demands minimal punishment - VIDEO: पहले सरफराज पर भड़के शोएब अख्तर, लेकिन फिर की कम सजा की मांग DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: पहले सरफराज पर भड़के शोएब अख्तर, लेकिन फिर की कम सजा की मांग

सरफराज की इस टिप्पणी की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना की जा रही है पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा है कि सरफराज को फेहुलक्वायो से माफी मांगनी चाहिए।

Sarfraz Ahmed, Shoaib Akhtar

दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ी एंडिले फेहुलक्वायो के खिलाफ रंगभेद की टिप्पणी के कारण पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कप्तान सरफराज अहमद विवादों में फंस गए हैं। यह घटना पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के बीच दूसरे वनडे मैच की है। फेहुलक्वायो और रेसी वान डर दुसेन की 127 रनों की साझेदारी के दम पर दक्षिण अफ्रीका ने पाकिस्तान को दूसरे वनडे मैच में पांच विकेट से हराया। 

दक्षिण अफ्रीका ने पाकिस्तान द्वारा रखे गए 204 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए एक समय पर 80 रनों पर अपने पांच विकेट गंवा दिए थे। 

फेहुलक्वायो और रेसी की साझेदारी पाकिस्तानी खिलाड़ी सरफराज को रास नहीं आ रही थी और यह उनकी भावनाओं में झलक गई। 37वें ओवर के दौरान उन्होंने फेहुलक्वायो को कहा, “अबे काले, तेरी अम्मी आज कहां बैठी हैं? तूने आज क्या प्रार्थना की है।?”

VIDEO: पाकिस्तानी कप्तान सरफराज अहमद की बेहद ही शर्मनाक करतूत स्टंप माइक में हुई कैद

सरफराज की इस टिप्पणी की सोशल मीडिया पर जमकर आलोचना की जा रही है। इसके साथ ही सरफराज भी आलोचनाओं का शिकार हो रहे हैं। पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कहा है कि सरफराज को फेहुलक्वायो से माफी मांगनी चाहिए। 

अख्तर ने टि्वटर पर एक वीडियो पोस्ट करते हुए लिखा, “एक पाकिस्तानी के तौर पर यह स्वीकार्य नहीं है। मुझे लगता है कि उन्होंने समय के दवाब में ऐसा कह दिया होग। उन्हें सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए।”

इसके बाद शोएब अख्तर ने एक और ट्वीट कर सरफराज के लिए कम सजा की मांग की है। उन्होंने लिखा की वर्ल्ड कप में हमें बतौर कप्तान उनकी जरुरत है इसलिए उनकी सजा कठोर नहीं होनी चाहिए।

बता दें कि सरफराज की इस हरकत पर अगर मैच अधिकारी अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरु करते हैं तो सरफराज को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) से प्रतिबंधों का सामना भी करना पड़ सकता है।

आईसीसी की अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट नस्ल-विरोधी नीति, 1 अक्टूबर 2012 के अनुसार आईसीसी और उसके सभी सदस्यों को किसी भी समय अपमान, डराना-धमकाना, नापसंद करना, उनकी जाति,धर्म, संस्कृति,रंग या राष्ट्रीय या जातीय मूल के आधार पर व्यक्तियों के बीच भेदभाव नहीं करना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shoaib Akhtar Slams Sarfraz Ahmed For His Racist Remarks but demands minimal punishment