DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  शोएब अख्तर का दावा- 2011 वर्ल्ड कप में मोहाली में अगर खेलता, तो कुछ इंडियन बल्लेबाजों की पसलियां-अंगूठे जरूर तोड़ डालता

क्रिकेटशोएब अख्तर का दावा- 2011 वर्ल्ड कप में मोहाली में अगर खेलता, तो कुछ इंडियन बल्लेबाजों की पसलियां-अंगूठे जरूर तोड़ डालता

लाइव हिन्दुस्तान टीम ,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Thu, 10 Jun 2021 02:44 PM
शोएब अख्तर का दावा- 2011 वर्ल्ड कप में मोहाली में अगर खेलता, तो कुछ इंडियन बल्लेबाजों की पसलियां-अंगूठे जरूर तोड़ डालता

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं। उन्होंने इंस्टाग्राम स्टोरी पर अपने फैन्स के सवालों के जवाब के दौरान एक ऐसा कमेंट किया, जिसकी खूब चर्चा हो रही है। अख्तर से जब एक फैन ने पूछा कि अगर वह 2011 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मैच में भारत के खिलाफ खेलते तो क्या 161.3 किमी प्रति घंटे से फेंकी गई अपनी सबसे तेज गेंद का रिकॉर्ड तोड़ डालते? इस पर अख्तर ने जो जवाब दिया वह भारतीय फैन्स को कुछ खास पसंद नहीं आएगा।

जेम्स एंडरसन ने डिलीट किया 11 साल पुराना ट्वीट, स्टुअर्ट ब्रॉड को लेकर किया था अनचाहा कमेंट

2011 में भारत और पाकिस्तान के बीच सेमीफाइनल मैच मोहाली में खेला गया था, जिसमें टीम इंडिया 29 रनों से जीत गई थी। उस मैच में सचिन तेंदुलकर ने 85 रनों की पारी खेली थी और मैन ऑफ द मैच चुने गए थे। अख्तर से एक फैन ने पूछा, 'अगर आप भारत के खिलाफ 2011 में मोहाली में खेले होते, तो क्या ऐसा कोई चांस था कि आप 161.3 वाला रिकॉर्ड तोड़ डालते?' इस पर अख्तर ने जवाब में लिखा, 'मैं कुछ खिलाड़ियों के पैर अंगूठे या पसलियां जरूर तोड़ डालता अगर 161.3 वाला रिकॉर्ड नहीं भी तोड़ पाता तो।'

अजीत आगरकर ने बताया, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया के सामने होंगे कई बड़े चैलेंज

shoaib akhtar s instagram story

अख्तर ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच 2011 में खेला था। मार्च में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने अपना आखिरी वनडे इंटरनेशनल मैच खेला था। वर्ल्ड कप के लिए शोएब अख्तर को पाकिस्तान टीम में शामिल तो किया गया था, लेकिन उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था। उस मैच की बात करें तो भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया था। भारत ने 50 ओवर में 9 विकेट पर 260 रन बनाए। सचिन के अलावा वीरेंद्र सहवाग ने 38 और सुरेश रैना ने नॉटआउट 36 रनों की अच्छी पारी खेली थी। पाकिस्तान की पूरी टीम 49.5 ओवर में 231 रनों पर सिमट गई।

संबंधित खबरें