Shikhar Dhawan talk about his mistakes in Test cricket - शिखर धवन ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी गलतियों को लेकर कही ये बात DA Image
12 दिसंबर, 2019|6:30|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिखर धवन ने टेस्ट क्रिकेट में अपनी गलतियों को लेकर कही ये बात

 shikhar dhawan  getty images

बांग्लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज में जीत दिलाने वाले शिखर धवन टेस्ट क्रिकेट में वापसी के लिए घरेलू क्रिकेट पर ध्यान देंगे। बाएं हाथ के इस खिलाड़ी ने पिछले एक साल से कोई टेस्ट नहीं खेला है। अब वह दिल्ली टी-20 में शामिल हो गए हैं और सैय्यद मुश्ताक अली ट्रॉफी में खेलेंगे। अपनी असफलताओं के बारे में वह कहते हैं, ''इंग्लैंड ही ऐसी जगह है, जहां मैं बहुत अधिक रन नहीं बना पाया। ऑस्ट्रेलिया में भी मैंने 80 रन की पारी खेली। न्यूजीलैंड में भी मैंने कुछ रन बनाए। मैं अपनी तरफ से बेस्ट देने की कोशिश करता हूं। अगर मुझे दोबारा मौका मिलता है तो मैं बेहतर करने की कोशिश करूंगा।''

टेस्ट क्रिकेट में अपनी गलतियों के बारे में उन्होंने कहा, ''स्टाइल से भी ज्यादा शॉट स्लेक्शन अहम है। आपको यह देखना होता है कि आपको कहां डिफेंड करना है और कहां गेंद से बल्ले को अलग करना है। आपको अलग अलग-जगह अलग तरीके से खेलना होता है। मेरे ख्याल से मैं कंसीस्टेंट नहीं था। हालांकि टेस्ट में मेरा औसत 40.61 है।''

VIDEO: धौनी ने नेट पर की वापसी, ऐसे आए फैन्स के रिएक्शन

 

INDvsBAN: 10 गेंद, 3 छक्के, 25 रन, उमेश यादव ने फिर मचाया धमाल

मयंक अग्रवाल के बारे में बात करते हुए शिखर धवन ने कहा कि वह बहुत अच्छा खेल रहे हैं। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। नए बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ के विषय में शिखर का कहना है कि विक्रम भाई बहुत अच्छे कोच हैं। उन्होंने दो माह पहले ही कोचिंग शुरू की है। उनके पास बल्लेबाजी के नए विचार हैं। संजय भाई ने भी अच्छा काम किया। हर व्यक्ति अलग होता है। हर व्यक्ति के पास अपने विचार होते हैं। मैं तुलना करना पसंद नहीं करता। बेसिक्स हमेशा सेम रहते हैं। 

रोहित शर्मा और विराट कोहली की कप्तानी के बारे में शिखर ने कहा, ''दोनों अलग कैरेक्टर हैं। दोनों की ताकत अलग अलग है। रोहित को आईपीएल का बड़ा अनुभव है। विराट भी लगातार शानदार परफोर्म कर रहे हैं और देश के लिए जीत रहे हैं।''

बांग्लादेश के खिलाफ सीरीज के बारे में उनका कहना है, ''मैंने अच्छी शुरुआत की, लेकिन मैं 30-40 रन की पारी को अर्द्धशतक में नहींबदल पाया। आप हमेशा ऐसा कर भी नहीं सकते। मैं उस समय बहुत आक्रामक खेल रहा था। मैं यह नहीं देखता कि मेरे 40 रन बने हैं या 50। टी-20 में शुरू के तीन बल्लबाजों को 15 ओवर तक रहना होता है। इस समय टीम में ऐसा हो रहा है, जो अच्छी बात है। 

शिखर धवन आईसीसी विश्व कप 2019 में शतक से शुरुआत करने के बाद वह चोटिल होकर बाहर हो गए थे। इस पर शिखर का कहना है कि चोटें खेल का हिस्सा हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैंने शतक लगाया और वह मैच हम जीते। लेकिन मुझे चोट लग गई। मैं जानता था कि यह फ्रैक्चर है। इसके बाद मुझे बाहर होना पड़ा। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shikhar Dhawan talk about his mistakes in Test cricket