DA Image
15 जुलाई, 2020|4:33|IST

अगली स्टोरी

शेन वॉर्न ने बताया, गेंद को ज्यादा स्पिन नहीं कराने के बाद भी कैसे सफल रहे अनिल कुंबले

शेन वॉर्न ने कहा, ''अनिल कुंबले गेंद को बहुत ज्यादा स्पिन नहीं कराते थे। फिर भी उन्होंने बहुत विकेट लिए। यह उनकी गेंद को बाउंस कराने और उनकी स्किल का ही कमाल था।''

anil kumble

2000 के शुरुआती दौर में जब भारत मैच फिक्सिंग के दौर से गुजर रहा था, तब तत्कालीन कप्तान सौरव गांगुली को सीनियर क्रिकेटर राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, अनिल कुंबले और जवागल श्रीनाथ का सहयोग मिला। इसके परिणामस्वरूप गांगुली ने टीम का नेतृत्व किया और क्रिकेट जगत का दिल जीता। उन्होंने अगले कुछ सालों में अच्छे परिणाम दिए। स्पिनर अनिल कुंबले की सफलता भी चमत्कारी थी। इंस्टाग्राम पर लाइव बातचीत में ऑस्ट्रेलिया के स्पिन जादूगर शेन वॉर्न ने अनिल कुंबले की जमकर तारीफ की। 

उन्होंने कहा कि अपनी खामियों के बावजूद कुंबले अपने पूरे करियर में बेहद सफल रहे। वॉर्न ने कहा, ''अनिल कुंबले जबरदस्त प्रतियोगी थे। वह दिमाग से खेल के बारे में सोचते थे। वह जेंटलमैन और शांत क्रिकेटर थे। उनमें लड़ने का जबरदस्त माद्दा था। उनमें अच्छा प्रदर्शन करने भूख थी। उन्होंने हमेशा अच्छा प्रदर्शन किया।''

Live चैट में रोहित ने पंत को किया ट्रोल, बोले- 'एक साल हुआ नहीं उसको क्रिकेट खेलके मेरे से मुकाबला करेगा'

शेन वॉर्न ने कहा, ''वह गेंद को बहुत ज्यादा स्पिन नहीं कराते थे। फिर भी उन्होंने बहुत विकेट लिए। यह उनकी गेंद को बाउंस कराने और उनकी स्किल का ही कमाल था।'' वॉर्न ने टेस्ट क्रिकेट में 708 विकेट लिए। कुंबले ने 619 विकेटों पर करियर का अंत किया। किसी भी भारतीय द्वारा ली गई ये सर्वाधिक विकेट हैं। 

श्रीलंका के मुथैयार मुरलीधरण ने 800 विकेट लिए। उन्होंने स्पिन के खिलाफ बेस्ट बल्लेबाज के रूप में वनजोत सिंह सिद्धू का नाम लिया। उन्होंने कहा, ''सिद्धू स्पिन खेलने वाले बेस्ट बल्लेबाज थे। सभी स्पिनरों ने इस बात को स्वीकार किया है।''

रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह ने युजवेंद्र चहल को किया जमकर ट्रोल- VIDEO

हाल ही में शेन वॉर्न ने ऑल टाइम इंडियन 11 में सौरव गांगुली को टीम का कप्तान चुना, लेकिन इस टीम में वीवीएस लक्ष्मण, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली को शामिल नहीं किया।

शेन वॉर्न की ऑल-टाइम इंडिया XI: सौरव गांगुली (कप्तान), वीरेंद्र सहवाग, नवजोत सिंह सिद्धू, राहुल द्रविड़, सचिन तेंदुलकर, मोहम्मद अजहरुद्दीन, कपिल देव, नयन मोंगिया (विकेटकीपर), हरभजन सिंह, जवागल श्रीनाथ, अनिल कुंबले।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Shane Warne decodes Anil Kumble successful career despite not being a significant turner of the ball