DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

World Cup: जब विवादों और खिलाड़ियों की गलत हरकतों ने किया मजा किरकिरा 

ICC World Cup: इस खेल को दागदार करने वालों में शेन वॉर्न, एंड्रयू फ्लिंटॉफ और हैंसी क्रोनिए जैसे दिग्गज शामिल रहे हैं। 

shane wanre  hansie cronje  afp getty images

क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट आईसीसी वर्ल्ड कप (ICC World cup) विवादों और खिलाड़ियों की गलत हरकतों के कारण भी चर्चा में रहा है। इस खेल को दागदार करने वालों में शेन वॉर्न, एंड्रयू फ्लिंटॉफ और हैंसी क्रोनिए जैसे दिग्गज शामिल रहे हैं। 

क्रोनिए फील्डिंग के दौरान कोच से बात करते पकड़े गए
1999 में खेले गए वर्ल्ड कप की मेजबानी इंग्लैंड ने की थी। भारतीय टीम के खिलाफ पहले मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका के कप्तान हैंसी क्रोनिए की एक हरकत ने सभी को चौंका दिया। फिल्डिंग के दौरान वह ईयरफोन के जरिए ड्र्रेंसगरूम में बैठे टीम के कोच बॉब वूल्मर से दिशा-निर्देश लेते हुए दिखे। बल्लेबाजी कर रहे सौरव गांगुली ने सबसे पहले इस हरकत को पकड़ा और मैदानी अंपायर से इसकी शिकायत की। हालांकि उस समय के नियमों के अनुसार यह गलत नहीं था, लेकिन इस पर काफी विवाद हुआ।  

CWC 2019: इंग्लैंड रवाना होने से पहले रवि शास्त्री पहुंचे शिरडी, लिया आशीर्वाद

डोप में पकड़े गए वॉर्न पर एक साल का प्रतिबंध लगा
दक्षिण अफ्रीका में खेले गए 2003 के वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलियाई टीम अपना खिताब बचाने के लिए उतरी थी। पर टूर्नामेंट की शुरुआत से कुछ दिन पहले ही उसके दिग्गज स्पिनर शेन वार्न र्डोंपग में फंस गए। वह प्रतिबंधित पदार्थ ड्यूरेटिक्स लेने के दोषी पाए गए। डोप में फंसने के कारण वॉर्न पर आईसीसी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया। उन्हें तुरंत दक्षिण अफ्रीका से वापस स्वदेश भेज दिया गया। वॉर्न का बाहर होना ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए बड़ा झटका था, क्योंकि वह पिछले वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले के मैन ऑफ द मैच थे। ऑस्ट्रेलियाई टीम हालांकि इस झटके से उबरी और एक बार फिर चैंपियन बनी।

एंड्रयू फ्लिंटॉफ नशे में धुत समुद्रतट पर पड़े मिले थे
वेस्टइंडीज में 2007 में खेले गए वर्ल्ड कप में इंग्लैंड के उपकप्तान एंड्रयू फ्लिंटॉफ ने अपनी टीम को शर्मिदा किया था। सुपर-8 चरण में इंग्लैंड को मिली हार के बाद निराशफ्लिंटॉफ ने रात में सेंट लूसिया में जमकर शराब पी। वह नशे में इतने धुत हो गए कि समुद्र के किनारे एक नाव में गिर पड़े। काफी देर खोजने के बाद वह मिले। इस व्यवहार के लिए फ्लिंटॉफ से उपकप्तान का पद छीन लिया गया। फ्लिंटॉफ पर एक मैच का प्रतिबंध भी लगा।  

ICC World Cup 2019: इंग्लैंड रवाना होने से पहले कोच रवि शास्त्री ने बताया कैसा होगा धौनी का रोल

दक्षिण अफ्रीका का सपना तोड़ने के बाद डकवर्थ-लुइस विवादों में 
1992 में दक्षिण अफ्रीका की टीम पहली बार वर्ल्ड कप में शिरकत कर रही थी लेकिन डकवर्थ लुइस नियम के कारण वह सेमीफाइनल में बाहर हो गई। इंग्लैंड ने छह विकेट पर 252 रन बनाए। बारिश के कारण दक्षिण अफ्रीका को 43 ओवर में यह लक्ष्य हासिल करना था। मैच के आखिर में दक्षिण अफ्रीका को 13 गेंद पर 22 रन की दरकार थी और दो चार विकेट शेष थे। पर उसकी उम्मीदों पर बारिश ने फिर पानी फेर दिया। दोबारा बारिश के बाद जब मैच शुरू हुआ तो दक्षिण अफ्रीका को डकवर्थ-लुइस नियम के आधार पर एक गेंद पर 22 रन का लक्ष्य दिया। इसने सभी को चौंका दिया। अफ्रीकी टीम बाहर हो गई और इस पर काफी विवाद हुआ। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:shane Warne ban to andrew flintoff hangover Top 5 controversies in ICC cricket World Cup