DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारतीय कोच मुकाबला: सहवाग, मूडी और रिचर्ड के बीच इनका पलड़ा होगा भारी

भारतीय कोच मुकाबला: सहवाग, मूडी और रिचर्ड में इनका पलड़ा होगा भारी
भारतीय कोच मुकाबला: सहवाग, मूडी और रिचर्ड में इनका पलड़ा होगा भारी

महान सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने भारतीय क्रिकेट टीम के मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन किया है। चैम्पियंस ट्रॉफी के बाद अनिल कुंबले का कार्यकाल खत्म होने से यह पद रिक्त होने जा रहा है।
 
कुंबले को प्रक्रिया में स्वत: प्रवेश मिलेगा जबकि अन्य दावेदारों में ऑस्ट्रेलियाई कोच टॉम मूडी और इंग्लैंड के रिचर्ड पायबस भी हैं जो पाकिस्तान के कोच रह चुके हैं।

भारतीयों में पूर्व तेज गेंदबाज डोडा गणेश और भारत ए के पूर्व कोच लालचंद राजपूत भी हैं। डोडा गणेश और लालचंद राजपूत ने पहले भी आवेदन किया था लेकिन कुंबले को उन पर तरजीह दी गई थी। वैसे सहवाग के शामिल होने से यह मुकाबला रोचक हो गया है। सहवाग को कोचिंग का कोई पूर्व अनुभव नहीं है हालांकि वह किंग्स इलेवन पंजाब आईपीएल टीम के मेंटर रहे हैं। भारत के सबसे बड़े मैच विनर्स में रहे सहवाग 104 टेस्ट और 251 वनडे में क्रमश: 8586 और 8273 रन बना चुके हैं।

ENDvBAN: इंग्लैंड ने बांग्लादेश को 8 विकेट से हराया, रूट ने खेली 133 रनों की शानदार पारी
 
समझा जाता है कि बीसीसीआई के आला अधिकारियों ने उन्हें आवेदन करने के लिये राजी किया। इसी तरह पहले जब माना जा रहा था कि रवि शास्त्री कोच के पद पर बने रहेंगे तो बोर्ड ने ऐन मौके पर कुंबले को दौड़ में शामिल किया था। बीसीसीआई के संयुक्त सचिव अमिताभ चौधरी ने कहा कि कुंबले और कप्तान विराट केाहली के बीच कोई मतभेद नहीं है, लेकिन सहवाग के कद के किसी खिलाड़ी के आवेदन करने से स्पष्ट हो गया है कि भारतीय ड्रेसिंग रूम में सब कुछ सही नहीं है। सहवाग तभी आवेदन करेंगे जब उन्हें पता हो कि वह गंभीर दावेदार हैं। अब यह देखना रोचक होगा कि कुंबले इंटरव्यू के लिये आते भी हैं या नहीं।

चैंपियंस ट्रॉफी: दुनिया भर में सबसे ज्यादा सर्च की जा रही है भारतीय टीम

आगे की स्लाइड में देखें, इस वजह से इस रेस में सहवाग से आगे हो सकते हैं मूडी

इस वजह से इस रेस में सहवाग से आगे हो सकते हैं मूडी
इस वजह से इस रेस में सहवाग से आगे हो सकते हैं मूडी

बीसीसीआई में कइयों का मानना है कि सहवाग मोटा वेतन मांग सकते हैं। ऐसे में मूडी दौड़ में अग्रणी हो सकते हैं जिनका पिछली बार भी प्रेजेंटेशन अच्छा रहा था।
 
मूडी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रसूख वाले कोच हैं और सनराइजर्स हैदराबाद के भी कोच रह चुके हैं। वह जॉन राइट और गैरी कर्स्टन की श्रेणी के कोच हैं जो भारत के सबसे सफल कोच रह चुके हैं। वह कम बोलने वाले और सुर्खियों से दूर रहने वाले कोच हैं।

दो बार के विश्व कप विजेता (1987 और 1999) 52 बरस के मूडी ऑस्ट्रेलिया के लिए 76 वनडे खेल चुके हैं। पायबस सिर्फ एक प्रथम श्रेणी मैच खेले हैं लेकिन उच्च श्रेणी के रणनीतिकार हैं। वह दो बार पाकिस्तानी टीम के कोच रह चुके हैं। 

विराट का पहला Crush: अनुष्का से पहले इनके बड़े दीवाने थे कोहली
     
गणेश तेज गेंदबाजी कोच के पद के भी दावेदार है हालांकि यदि जहीर खान रूचि दिखाते हैं तो बोर्ड किसी और नाम पर विचार नहीं करेगा। कोच के पद के लिये इंटरव्यू इंग्लैंड में ही होंगे। कुछ दावेदार स्काइप के जरिये इंटरव्यू दे सकते हैं। क्रिकेट सलाहकार समिति के सदस्य सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण के अलावा सहवाग भी स्टार स्पोटर्स की कमेंट्री टीम के सदस्य के रूप में इंग्लैंड में ही हैं । 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Sehwag, Moody and Pybus in the rase for Indian coach's job