DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  स्कॉट स्टायरिस ने बताया, इस कमजोरी की वजह से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में संघर्ष कर सकते हैं रोहित शर्मा
क्रिकेट

स्कॉट स्टायरिस ने बताया, इस कमजोरी की वजह से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में संघर्ष कर सकते हैं रोहित शर्मा

एजेंसी,नई दिल्लीPublished By: Shubham Mishra
Mon, 14 Jun 2021 06:43 PM
स्कॉट स्टायरिस ने बताया, इस कमजोरी की वजह से वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में संघर्ष कर सकते हैं रोहित शर्मा

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले जाने वाले वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल मुकाबले में अब महज चार दिन बचे हैं। तमाम क्रिकेट फैन्स को इस फाइनल मैच का बेसब्री से इंतजार है। इंग्लैंड की कंडिशंस में न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों से पार पाना भारतीय बल्लेबाजों के लिए आसान नहीं होगा। भारत को अगर डब्ल्यूटीसी का पहला खिताब अपने नाम करना है तो रोहित शर्मा, विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा जैसे बल्लेबाजों को अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन करना होगा। सलामी बल्लेबाज के तौर पर रोहित पर काफी बड़ी जिम्मेदारी होने वाली है। इसी बीच, न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर स्कॉट स्टायरिस ने कहा है कि स्विंग लेती गेंदें रोहित को फाइनल मैच में मुश्किल में डाल सकती है। 

हो गया ऐलान, WTC खिताब जीतते ही ट्रॉफी ही नहीं इतने करोड़ रुपये भी घर ले जाएगी विजेता टीम

स्टार स्पोर्ट्स के शो पर बात करते हुए स्टायरिस ने कहा, 'यह पिच पर निर्भर करता है... मुझे लगता है कि अगर गेंद मूव करती है तो रोहित को परेशानियों का सामना करना पड़ता है। पारी की शुरुआत में रोहित के पैर काफी नहीं चलते। अगर ऐसा होता है तो स्विंग होती गेंद उनके लिए समस्या हो सकती है।' स्टायरिस ने कहा कि न्यूजीलैंड का तेज गेंदबाजी आक्रमण मजबूत है और उसमें नील वैगनर की भूमिका अहम होगी। उन्होंने कहा, 'न्यूजीलैंड की तेज गेंदबाजी योजना में कुछ भी छिपा हुआ नहीं है, टिम साउथी और ट्रेंट बोल्ट के साथ काइल जैमीसन या कोलिन डि ग्रैंडहोम तीसरे तेज गेंदबाज की भूमिका निभाएंगे और ये नई गेंद से 22वें से 28वें ओवर तक गेंदबाजी करेंगे।'

WTC Final 2021: वसीम जाफर ने दिया भारतीय बल्लेबाजों को सीक्रेट मैसेज, कहा- वो करो जिसके लिए बॉलीवुड की पुलिस मशहूर है

न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटर ने कहा, 'इसके बाद नील वैगनर की भूमिका आएगी। इसलिए जब आप वैगनर के बारे में बात करते हैं तो आक्रामक गेंदबाजी करने की उसकी क्षमता है और दूसरी नई गेंद मिलने तक बीच के ओवरों में वह विराट कोहली जैसे के खिलाफ विकेट हासिल करने के लिए वास्तविक विकल्प है।' वहीं, भारत के पूर्व क्रिकेटर पार्थिक पटेल ने कहा है कि विराट कोहली को डब्ल्यूटीसी के फाइनल में कई चुनौतियां का सामना करना पड़ा सकता है। उन्होंने कहा, 'मुझे लगता है कि उनको खुद को थोड़ा सा टाइम देना होगा और सोचना होगा जो उन्होंने साल 2018 में किया था। उस दौरे पर विराट ने कई शतक जड़े थे। तो वह 2014 के मुकाबले 2018 में कहीं बेहतर दिखाई दिए थे, लेकिन उनके सामने कई चैलेंज होंगे और चैलेंज होगा तेज गेंदबाजों की वैरायटी का। इसकी वजह यह है कि न्यूजीलैंड का पेस अटैक एक तरह का नहीं है।'    

संबंधित खबरें