फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटसौरभ तिवारी ने लिया क्रिकेट से रिटायरमेंट, कभी कहा जाता था 'नेक्स्ट धोनी', तीन वनडे के बाद बंद हो गए थे टीम इंडिया के दरवाजे

सौरभ तिवारी ने लिया क्रिकेट से रिटायरमेंट, कभी कहा जाता था 'नेक्स्ट धोनी', तीन वनडे के बाद बंद हो गए थे टीम इंडिया के दरवाजे

Saurabh Tiwari Retirement: बल्लेबाज सौरभ तिवारी ने प्रोफेशनल क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। उन्होंने साल 2010 में भारत के लिए तीन वनडे मैच खेले। तिवारी को कभी नेक्स्ट धोनी कहा जाता था।

सौरभ तिवारी ने लिया क्रिकेट से रिटायरमेंट, कभी कहा जाता था 'नेक्स्ट धोनी', तीन वनडे के बाद बंद हो गए थे टीम इंडिया के दरवाजे
Md.akram लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 12 Feb 2024 08:40 PM
ऐप पर पढ़ें

सौरभ तिवारी ने प्रोफेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है। झारखंड के बल्लेबाज सौरभ बड़े-बड़े छक्के लगाने के लिए मशहूर रहे। उन्हें कभी 'नेक्स धोनी' कहा जाता था। हालांकि, सौरभ का इंटरनेशनल करियर कभी धोनी की तरह परवान नहीं चढ़ पाया। उन्होंने साल 2010 में इंटरनेशनल डेब्यू किया और तीन वनडे मैच खेलने के बाद टीम इंडिया के दरवाजे बंद हो गए। उन्होंने तीन वनडे में 49 रन बनाए थे। 34 वर्षीय सौरभ फिलहाल रणजी ट्रॉफी में खेल रहे हैं। 15 फरवरी से झारखंड बनाम राजस्थान रणजी मैच आयोजित होगा, जो उनके करियर का आखिरी मुकाबला होगा।

सौरभ पिछले कुछ समय से घुटने की चोट से परेशान थे लेकिन वह लगातार घरेलू क्रिकेट खेल रहे थे। उन्होंने 11 साल की उम्र में क्रिकेट खेलना शुरू किया था। सौरभ ने 17 साल की उम्र में 2006-07 के रणजी ट्रॉफी सीजन में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया। उन्होंने 115 फर्स्ट क्लास मुकाबलों में 47.51 की औसत से 8030 रन बटोरे हैं। वह 22 शतक और 34 फिफ्टी ठोक चुके हैं। सौरभ ने फर्स्ट क्लास में धोनी से अधिक अधिक रन बनाए हैं। धोनी के बल्ले से 131 मैचों में 7038 रन निकले हैं।

सौरभ 2008 में अंडर-19 वर्ल्ड कप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे, जिसकी कमान विराट कोहली ने संभाली। तिवारी ने 2008 में मुंबई इंडियंस (एमआई) की ओर से आईपीएल में पदार्पण किया। वह आईपीएल में मुंबई के अलावा रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर और राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स का हिस्सा रहे। उन्होंने 93 आईपीएल मैचों में 28.73 की औसत और 120.1 के स्ट्राइक रेट से 1244 रन बनाए। उन्होंने इस दौरान 8 अर्धशतक जमाए। सौरभ को आईपीएल 2010 में शानदार प्रदर्शन करने के बाद एशिया कप के लिए भारतीय टीम में चुना गया था। उन्हें एशिया कप में प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं मिली। उन्होंने अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में डेब्यू किया था।

सौरभ ने सोमवार को जमशेदपुर में प्रेस कॉन्फेंस में कहा, "इस सफर को अलविदा कहना थोड़ा कठिन है जो मैंने अपनी स्कूलिंग से पहले शुरू किया था।" लेकिन मुझे यकीन है कि यह इसके लिए सही समय है। मुझे लगता है कि अगर आप राष्ट्रीय टीम और आईपीएल में नहीं हैं तो किसी युवा खिलाड़ी के लिए राज्य टीम में जगह खाली करना बेहतर है। हमारी टीम में अभी युवाओं को भरपूर मौके दिया जा रहे है और इसलिए मैं यह फैसला ले रहा हूं।"

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें