फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट'रात को वक्त चाहिए गुजरने के लिए...', बेटे के डेब्यू पर ऑन एयर पहली बार बोले सरफराज खान के पिता, जीत लिया फैंस का दिल

'रात को वक्त चाहिए गुजरने के लिए...', बेटे के डेब्यू पर ऑन एयर पहली बार बोले सरफराज खान के पिता, जीत लिया फैंस का दिल

घरेलू क्रिकेट में दमदार प्रदर्शन करने वाले बल्लेबाज सरफराज खान ने गुरुवार को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया है। इस मौके पर उनके पिता और उनकी पत्नी स्टेडियम में मौजूद रहे।

'रात को वक्त चाहिए गुजरने के लिए...', बेटे के डेब्यू पर ऑन एयर पहली बार बोले सरफराज खान के पिता, जीत लिया फैंस का दिल
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 15 Feb 2024 04:04 PM
ऐप पर पढ़ें

मुंबई की तरफ से घरेलू स्तर पर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे सरफराज खान ने गुरुवार (15 फरवरी) को इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट डेब्यू किया है। लंबे समय से भारतीय टीम का दरवाजा खटखटा रहे 26 वर्षीय खिलाड़ी को लंबे समय बाद उनकी मेहनत का फल मिला है। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच की शुरुआत होने से पहले सरफराज खान और ध्रुव जुरेल को टेस्ट कैप सौंपी गई। इस दौरान सरफराज के परिवार वाले भी मौजूद रहे। आकाश चोपड़ा ने सरफराज के पिता से मैच के दौरान कमेंट्री बॉक्स में उनकी भावनाओं और उनके बेटे के नेशनल डेब्यू में देरी के बारे में पूछा। 

सरफराज के पिता नौशाद खान ने आकाश चोपड़ा के सवाल का जवाब देते हुए कहा, ''रात को वक्त चाहिए गुजरने के लिए, लेकिन सूरज मेरी मर्जी से नहीं निकलने वाला।''

केएल राहुल के चोटिल होने, श्रेयस अय्यर को टीम से बाहर किए जाने तथा विराट कोहली की अनुपस्थिति के कारण सरफराज को टेस्ट टीम में जगह बनाने का मौका मिला। इस तरह से सरफराज भारत के 311वें और जुरेल 312वें टेस्ट क्रिकेटर बने। दाएं हाथ के बल्लेबाज सरफराज को भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और देश के सबसे सफल गेंदबाज अनिल कुंबले ने टेस्ट कैप दी। 

IND vs ENG : कप्तान रोहित शर्मा ने इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में जड़ा शतक, लगाई रिकॉर्ड्स की झड़ी

सरफराज को बाद में अपने पिता और कोच नौशाद खान को अपनी टेस्ट कैप दिखाते हुए देखा गया। यही नहीं उनकी पत्नी की आंखों में आंसू छलक आए और सरफराज को उन्हें पोंछते हुए देखा गया।    जुरेल को पूर्व भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने टेस्ट कैप सौंपी।

इस अवसर पर कुंबले ने कहा, ''सरफराज आप जिस तरह से आगे बढ़े उस पर वास्तव में हमें गर्व है। आपने जो कुछ हासिल किया मुझे विश्वास है कि उस पर आपके पिता और परिवार को बहुत गर्व होगा। मुझे पता है कि आपने कड़ी मेहनत की है। यह आपके लंबे करियर की शुरुआत है। आपसे पहले केवल 310 लोग खेले हैं। आपको ढेर सारी शुभकामनाएं।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें