फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटभारत की वनडे टीम की किस समस्या को सॉल्व कर सकते हैं सरफराज खान, संजय मांजरेकर से जानिए

भारत की वनडे टीम की किस समस्या को सॉल्व कर सकते हैं सरफराज खान, संजय मांजरेकर से जानिए

पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने कहा है कि सरफराज खान भारत की वनडे टीम की मिडिल ऑर्डर की समस्या का समाधान कर सकते हैं। जब 5 फील्डर सर्कल में होते हैं तो वे रन बना सकते हैं।

भारत की वनडे टीम की किस समस्या को सॉल्व कर सकते हैं सरफराज खान, संजय मांजरेकर से जानिए
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 19 Feb 2024 01:15 PM
ऐप पर पढ़ें

सरफराज खान ने राजकोट में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में टीम इंडिया के लिए डेब्यू किया। वे घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बनाने के बाद टेस्ट टीम में जगह बनाने में सफल हुए। हालांकि, आईपीएल में उनका प्रदर्शन सवालों के घेरे में रहा, लेकिन सरफराज खान ने जिस तरह की बल्लेबाजी अपने डेब्यू टेस्ट मैच में की, उसकी हर कोई सराहना कर रहा है। यहां तक कि पूर्व क्रिकेटर संजय मांजरेकर ने तो उनको वनडे टीम के लिए अच्छा ऑप्शन बताया है। 

राजकोट में शानदार डेब्यू टेस्ट के बाद पूर्व भारतीय क्रिकेटर संजय मांजरेकर का मानना है कि भारतीय टीम को 50 ओवर के प्रारूप में मध्य ओवरों में एक अच्छा बल्लेबाज मिल गया है। मांजरेकर ने एक्स पोस्ट करते हुए लिखा, "मुझे लगता है कि भारत को मिडिल फेज में, जब सर्कल के अंदर 5 फील्डर होते हैं तो बल्लेबाजी करने के लिए 50 ओवर के मध्य क्रम के बल्लेबाज के लिए एक बहुत अच्छा विकल्प मिल गया है, यह सरफराज खान हैं।"

वनडे में भारत का मध्य क्रम हाल ही में समाप्त हुए विश्व कप में भी चिंता का विषय रहा है, जहां सातवें नंबर पर काबिज सूर्यकुमार यादव अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट में डेब्यू करने वाले सरफराज खान ने दोनों पारियों में बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ भारत की बड़ी जीत में योगदान देते हुए दोनों पारियों में अर्धशतक जड़े। दोनों बार तेज गति से उन्होंने बल्लेबाजी की। 

बेन स्टोक्स का दावा- जो रूट का शॉट टर्निंग पॉइंट था, लेकिन मैं उनसे कुछ बोलने वाला कौन होता हूं

पहली पारी में वह आक्रामक तरीके से गेंदबाजों का सामना करने में सफल रहे। केवल 48 गेंदों में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने जडेजा के साथ 77 रन की महत्वपूर्ण साझेदारी करके भारत की पहली पारी को 445 रन तक पहुंचाया। हालांकि, वे जडेजा के एक खराब कॉल पर रन आउट हो गए। वहीं, अगली पारी में उन्होंने जब-जब खराब गेंद मिली, उस पर बाउंड्री लगाई और अर्धशतक बनाकर नाबाद लौटे। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें