DA Image
7 जून, 2020|5:01|IST

अगली स्टोरी

मोहम्मद अजहरुद्दीन के पास जाकर जब सचिन तेंदुलकर ने कहा था- 'फेल हुआ तो वापस नहीं आऊंगा'

तेंदुलकर ने बताया है कि उन्होंने उस समय टीम इंडिया के कप्तान रहे मोहम्मद अजहरुद्दीन और मैनेजर अजीत वाडेकर से ऑकलैंड में पारी की शुरुआत करने को कहा था।

sachin tendulkar

इस बात से सभी वाकिफ हैं कि सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर की शुरुआत मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज के तौर पर की थी और नवजोत सिंह सिद्धू के चोटिल होने के बाद से ही वो न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली बार पारी की शुरुआत करने उतरे थे। तेंदुलकर ने बताया है कि उन्होंने उस समय टीम इंडिया के कप्तान रहे मोहम्मद अजहरुद्दीन और मैनेजर अजीत वाडेकर से ऑकलैंड में पारी की शुरुआत करने को कहा था।

लॉकडाउन में अनुष्का के साथ फोटो शेयर कर विराट ने लिखा Funny कैप्शन

ऐसे मिला था तेंदुलकर को पारी का आगाज करने का मौका

तेंदुलकर ने कहा, 'जब मैंने सुबह होटल छोड़ा तो मुझे नहीं पता था कि मैं पारी की शुरुआत करने वाला हूं। हम मैदान पर पहुंचे और अजहर और वाडेकर सर ड्रेंसिंग रूम में थे। उन्होंने कहा कि सिद्धू फिट नहीं हैं तो कौन ओपनिंग करेगा। मैंने कहा कि मैं करूंगा। मुझे अपने ऊपर पूरा विश्वास था कि मैं उन गेंदबाजों पर अटैक कर सकता हूं।' उन्होंने कहा, 'पहला रिऐक्शन था कि मैं ओपनिंग क्यों करना चाहता हूं? लेकिन मुझे अपने ऊपर विश्वास था कि मैं कर सकता हूं। ऐसा नहीं था कि मैं वहां जाकर स्लॉग शॉट खेल वापस आ जाऊंगा। मैं अपना आम खेल जारी रखूंगा जो अटैक करना है।'

युवी के बाद भज्जी का ट्रोलर्स को करारा जवाब- नफरत और वायरस ना फैलाएं

'मुझे बस एक मौका दीजिए'

उन्होंने कहा, 'तब तक सिर्फ मार्क ग्रेटबैच ने 1992 में ऐसा किया था, क्योंकि तब तक आम ट्रेंड यही था कि पहले 15 ओवर आराम से खेले जाएं क्योंकि गेंद नई है। आप पहले गेंद की चमक खत्म कर दो और फिर तेजी से रन बनाओ। इसलिए मुझे लगा कि अगर मैं जाकर पहले 15 ओवर तेजी से रन बना सका तो यह विपक्षी टीम पर काफी दबाव बना देगा। मैंने कहा था कि अगर मैं फेल हुआ तो मैं आपके पास दोबारा नहीं आऊंगा, लेकिन मुझे एक मौका दीजिए।' तेंदुलकर ने उस मैच में 49 गेंदों पर 82 रन बनाए थे। इसके बाद सचिन वनडे टीम के नियमित ओपनर बन गए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:sachin tendulkar revealed how he got the chance to open inning for india in international cricket he said to azhar if i fail will never come back