फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेट Impact Player Rule को IPL में मिली सफलता, इस T20 लीग में भी लागू हो सकता है ये नियम

Impact Player Rule को IPL में मिली सफलता, इस T20 लीग में भी लागू हो सकता है ये नियम

Impact Player Rule को IPL में सफलता मिली है। हर एक टीम इसका फायदा उठाने की कोशिश कर रही है। पिछले सीजन से इस नियम का इस्तेमाल हो रहा है। अब इस नियम को एसए20 लीग भी अपना सकती है। 

 Impact Player Rule को IPL में मिली सफलता, इस T20 लीग में भी लागू हो सकता है ये नियम
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 09 May 2024 08:40 PM
ऐप पर पढ़ें

Impact Player Rule ने आईपीएल में सफलता हासिल कर ली है। साल 2023 के सीजन में इस नियम को इंट्रोड्यूस किया गया था और 2024 में भी ये लागू है। कुछ क्रिकेटर और क्रिकेट एक्सपर्ट इस नियम से खुश नहीं हैं, क्योंकि ऑलराउंडर्स का इस्तेमाल कम किया जा रहा है। हालांकि, फ्रेंचाइजी इस नियम का पूरा फायदा उठा रही हैं। इसी कड़ी में अब एक और टी20 लीग इस नियम को अपनाने पर विचार कर रही है। 

क्रिकबज की रिपोर्ट की मानें तो साउथ अफ्रीका में खेली जाने वाली एसए20 लीग में इम्पैक्ट प्लेयर रूल का इस्तेमाल अगले सीजन से शुरू हो सकता है। 2025 में आयोजित होने वाली एसए20 लीग के दूसरे सीजन के लिए जब अधिकारी टूर्नामेंट को लेकर विचार करेंगे तो इसमें इम्पैक्ट प्लेयर रूल भी एक बड़ा एजेंडा होगा। एक अक्टूबर को आईसीसी अपनी अपडेटेड प्लेइंग कंडीशन का ऐलान करेगी। अगर इस नियम को अप्रूव कर दिया जाता है तो एसए20 लीग भी आईपीएल में सफल हो चुके इस नियम को अपना सकती है। 

लखनऊ सुपर जायंट्स ले सकती है केएल राहुल के खिलाफ दो बड़े ऐक्शन, छिन सकती है कप्तानी और...

इसी साल से इस टूर्नामेंट की शुरुआत हुई है, लेकिन जब आईपीएल 2023 में इस नियम को लागू किया गया था। उस समय तक खिलाड़ियों की नीलामी हो चुकी थी। ऐसे में इस नियम पर विचार नहीं किया गया, क्योंकि इम्पैक्ट प्लेयर के नियम को ध्यान में रखते हुए फ्रेंचाइजी उस समय टीम बना सकती थीं। इस नियम ने गेम को थोड़ा सा रोमांचक तो बनाया है, लेकिन ऑलराउंडर्स के लिए ये काल बन गया है। बहुत से खिलाड़ी हैं, जिनसे गेंदबाजी नहीं कराई जाती या फिर उनको बल्लेबाजी के लिए नहीं बुलाया जाता है। स्पेशलिस्ट बॉलर या बैटर ही खेलता हुआ नजर आता है। 

भारतीय टीम के कप्तान रोहित शर्मा इस नियम को पसंद नहीं करते। उनका स्पष्ट कहना है कि इससे ऑलराउंडर्स को पूरा मौका अपनी प्रतिभा दिखाने का नहीं मिल रहा है। ऐसा ही कुछ मानना साउथ अफ्रीका के पूर्व क्रिकेटर जैक कैलिस का है। उन्होंने क्रिकबज से बात करते हुए कहा, "यह एक भयानक नियम है। आप ऑलराउंडर को नकार रहे हैं और मुझे नहीं लगता कि यह क्रिकेट के लिए अच्छा है। खासतौर पर भारत के लिए, जो अपने ऑलराउंडर्स को विकसित करने की कोशिश कर रहा है। एक ऑलराउंडर के तौर पर मैं ऐसा नहीं देखना चाहता। आप चाहते हैं कि वे एक प्रमुख भूमिका निभाएं।"

ये भी पढ़ेंः T20 World Cup 2024 के लिए श्रीलंका के Squad का ऐलान, वानिंदु हसरंगा को बनाया टीम का कप्तान 

उन्होंने आगे कहा, "इसके अलावा, टीम के ऑलआउट होने की बहुत कम संभावना है, क्योंकि आप मूल रूप से आठ बल्लेबाजों के साथ खेल रहे हैं। इससे बहुत फर्क पड़ता है और इसीलिए स्कोर बड़े हो रहे हैं। हां, बल्लेबाज खेल को अगले स्तर पर ले गए हैं, लेकिन मैं निश्चित रूप से इस बात से सहमत नहीं हूं कि कोई इम्पैक्ट प्लेयर होना चाहिए। यह गेम के लिए अच्छा नहीं है।" हालांकि, एसए20 लीग की सभी 6 फ्रेंचाइजी आईपीएल की टीमों की भी मालिक हैं। ऐसे में इस नियम पर विचार किया जा सकता है।  

SA20 लीग में है अलग नियम

जैसे आईपीएल में इम्पैक्ट प्लेयर का नियम है, आप प्लेइंग इलेवन के अतिरिक्त 5 खिलाड़ियों को सब्सटीट्यूट में रखते हैं, उसी तरह एसए20 लीग में टॉस के दौरान 13 खिलाड़ियों की लिस्ट दी जाती है, जिसमें टॉस के बाद आप प्लेइंग इलेवन चुन सकते हैं। हालांकि, आईपीएल में आप 5 सब्सटीट्यूट में से किसी को भी किसी भी समय इम्पैक्ट प्लेयर के तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं।