DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  विवादित रनआउट के लिए मियांदाद ने फखर जमां को लताड़ा, कहा- बल्लेबाज को अपने विकेट से उतना प्यार होना चाहिए, जितना अपनी माशूका के लिए होता है

क्रिकेटविवादित रनआउट के लिए मियांदाद ने फखर जमां को लताड़ा, कहा- बल्लेबाज को अपने विकेट से उतना प्यार होना चाहिए, जितना अपनी माशूका के लिए होता है

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Namita Shukla
Wed, 07 Apr 2021 12:47 PM
विवादित रनआउट के लिए मियांदाद ने फखर जमां को लताड़ा, कहा- बल्लेबाज को अपने विकेट से उतना प्यार होना चाहिए, जितना अपनी माशूका के लिए होता है

पाकिस्तान और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की सीरीज के दूसरे वनडे इंटरनेशनल मैच में जिस तरह से फखर जमां रनआउट हुए थे, उसको लेकर काफी विवाद हो गया। फखर 193 रन बनाकर दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ आखिरी ओवर की पहली गेंद पर रनआउट हो गए थे, जिसके बाद मेहमान टीम को 17 रनों से हार का सामना करना पड़ा था। इस जीत के साथ दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज में 1-1 से बराबरी हासिल कर ली थी। इस रनआउट को लेकर दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक की खेलभावना को लेकर सवाल खड़े किए गए थे। शोएब अख्तर समेत कई पूर्व क्रिकेटरों ने इसके लिए डिकॉक को खरी-खोटी भी सुनाई, हालांकि जावेद मियांदाद इस मामले में कुछ अलग सोचते हैं।

गंभीर ने बताया क्यों फेल होने के बावजूद करोड़ों में बिकते हैं मैक्सवेल

मियांदाद ने इस रनआउट के लिए फखर जमां को दोषी ठहराया है। पीपीआई से बातचीत के दौरान मियांदाद ने कहा, 'आप गेंद से नजर हटा नहीं सकते हैं। आपको अपने विकेट से उतना ही प्यार होना चाहिए, जितना अपनी माशूका से होता है। अगर ऐसा होता है, तो आप इस तरह से रनआउट नहीं हो सकते। हम भी ऐसा किया करते थे, मैं दिखाता कि मैं गेंद स्ट्राइकर एंड पर थ्रो कर रहा हूं, लेकिन असल में नॉन स्ट्राइकर एंड पर थ्रो करता था, जिससे विरोधी बल्लेबाज आउट हो जाए। यह चालाकी मानी जानी चाहिए।'

IPL: किसी भारतीय ने नहीं जीती है दो बार ऑरेंज कैप, देखें पूरी लिस्ट

मैच के बाद हालांकि खुद फखर ने भी कहा था कि जिस तरह से वह रनआउट हुए, उसमें गलती डिकॉक की नहीं बल्कि उनकी खुद की थी। फखर रन पूरा करने वाले थे, तभी डिकॉक ने नॉन स्ट्राइकर एंड की ओर इशारा किया और फखर ने पीछे मुड़कर देख लिया और उन्हें अपना विकेट गंवाना पड़ा। लक्ष्य का पीछा करते हुए फखर ने सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर बनाने का वर्ल्ड रिकॉर्ड इस पारी के साथ अपने नाम कर लिया।

संबंधित खबरें