फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटरियान पराग बोले- इसमें सिर्फ धोनी को महारत हासिल है और मैं इसे करियर के शुरुआत में कर रहा हूं

रियान पराग बोले- इसमें सिर्फ धोनी को महारत हासिल है और मैं इसे करियर के शुरुआत में कर रहा हूं

राजस्थान रॉयल्स के युवा ऑलराउंडर रियान पराग ने कहा है कि नंबर 6 और 7 पर खेलना टी20 में सबसे कठिन है। इसमें सिर्फ धोनी को महारत हासिल है और मैं इसे करियर के शुरुआत में कर रहा हूं। 

रियान पराग बोले- इसमें सिर्फ धोनी को महारत हासिल है और मैं इसे करियर के शुरुआत में कर रहा हूं
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 27 Nov 2022 06:01 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

आईपीएल 2023 के मिनी ऑक्शन से पहले सभी फ्रेंचाइजियों ने अपने कुछ-कुछ खिलाड़ियों को रिलीज किया है। राजस्थान रॉयल्स ने भी 9 खिलाड़ी रिलीज किए हैं, लेकिन इसमें ऑलराउंडर रियान पराग का नाम शामिल नहीं है। पराग 5 साल से आरआर का हिस्सा हैं और मैनेजमेंट ने एक बार फिर से उन पर भरोसा जताया है और उन्हें अपनी टीम में बनाए रखा है। उन्होंने अब राजस्थान रॉयल्स के इस फैसले और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के मैच फिनिश करने की क्षमता को लेकर एक बयान दिया है।  

रियान पराग ने स्पोर्ट्सकीड़ा से बात करते हुए कहा, "मुझे लगता है कि यह मेरे लिए बहुत आसान है। संदेश हमेशा स्पष्ट होता है, वे मेरी क्षमताओं में विश्वास करते हैं। 90 प्रतिशत लोग यह नहीं देखते कि टीम के अंदर क्या चल रहा है, मैं अभ्यास मैचों में कैसा प्रदर्शन कर रहा हूं, मैं क्या कर रहा हूं। हर कोई बस फाइनल प्रोडक्ट देखता है, जो मेरे लिए थोड़ा कठिन रहा है। इसलिए हर कोई मुझे उस पर जज करता है, लेकिन पूरा रॉयल परिवार जानता है कि मैं क्या करने में सक्षम हूं और मैंने अभ्यास में क्या किया है या मैचों में इसकी झलक भी दिखाई है। इसलिए विश्वास हमेशा से रहा है।" 

पराग ने आगे कहा, "उन्होंने मुझे चार साल तक सपोर्ट किया है। यह मेरा अब पांचवां साल है और मुझे उम्मीद है कि मैं जल्द ही उसका हिसाब चुकता कर दूंगा।" पिछले तीन साल पराग के लिए अच्छी नहीं रहे हैं। उन्होंने आईपीएल 2022 में एक अर्धशतक के साथ 17 पारियों में 183 रन बनाए थे। इससे पहले 2020 में 86 और 2021 में 93 रन बनाए थे। इस बात को खुद रियान पराग भी मानते हैं, लेकिन उनका कहना है कि केवल मेरी राय मायने रखती है, कोई कितनी ही बात क्यों न करें उन्हें फर्क नहीं पड़ता। 21 साल के पराग ने 6 और 7 नंबर पर बल्लेबाजी की है, जो आसान नहीं है। इसी को लेकर उन्होंने धोनी का जिक्र किया। 

टीम इंडिया में हो सकते हैं बदलाव, आज होगा मुकाबला

उन्होंने कहा, "टी20 क्रिकेट में यह सबसे कठिन काम है, मैदाना पर आना है और कड़ी मेहनत करना है। नंबर छह और सात टी20 क्रिकेट में खेलने के लिए सबसे कठिन स्थान हैं। कुछ ही लड़कों ने इसमें महारत हासिल की है। कुछ को भी नहीं, मैं सिर्फ इतना कहूंगा कि केवल एमएस धोनी को इसमें महारत हासिल है और किसी को नहीं। और मैं इसे अपने करियर के शुरुआती चरण में कर रहा हूं। इसमें महारत हासिल भी नहीं है, मैं बस यह जानने के करीब पहुंच रहा हूं कि यह सब कैसा लगता है - मैं बस इसके माध्यम से अपना रास्ता बना रहा हूं। इसलिए लोग जो चाहें बात कर सकते हैं, लेकिन मुझे पता है कि यह कितना कठिन काम है और मेरी टीम मुझ पर विश्वास करती है।"

लेटेस्ट Cricket News, Cricket Live Score, Cricket Schedule और T20 World Cup की खबरों को पढ़ने के लिए Live Hindustan AppLive Hindustan App डाउनलोड करें।