फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट'ऋषभ पंत की जल्द हो सकती है वापसी, लेकिन ध्रुव जुरेल में है एमएस धोनी जैसा बनने वाली बात'

'ऋषभ पंत की जल्द हो सकती है वापसी, लेकिन ध्रुव जुरेल में है एमएस धोनी जैसा बनने वाली बात'

ध्रुव जुरेल ने अभी तक दो ही टेस्ट मैच खेले हैं और 87.5 की औसत से 175 रन बना चुके हैं और साथ ही एक मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड भी अपने नाम कर चुके हैं। छोटे से करियर में उनकी तुलना धोनी से शुरू हो चुकी है।

'ऋषभ पंत की जल्द हो सकती है वापसी, लेकिन ध्रुव जुरेल में है एमएस धोनी जैसा बनने वाली बात'
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 28 Feb 2024 10:54 AM
ऐप पर पढ़ें

ऋषभ पंत का जब साल 2022 के अंत में रोड एक्सिडेंट हुआ था, उसके बाद से टेस्ट क्रिकेट में अचानक से विकेटकीपर बैटर की कमी टीम इंडिया को ज्यादा ही खलने लगी थी। केएल राहुल विकेटकीपर बैटर के तौर पर खेले, केएस भरत को लंबे समय तक आजमाया गया और इस बीच ईशान किशन पर भी दांव लगाया गया, लेकिन इससे कुछ ज्यादा फायदा होता नहीं दिखा। केएस भरत की बात करें तो उन्होंने विकेटकीपर के तौर पर तो अपने काम से प्रभावित किया, लेकिन बैटिंग में लगातार फेल होते नजर आए। इंडिया वर्सेस इंग्लैंड पांच मैचों की सीरीज के पहले दो टेस्ट मैचों में केएस भरत को प्लेइंग XI में रखा गया, लेकिन फिर से वह बैटिंग में फेल हुए और चौथे टेस्ट मैच के लिए प्लेइंग XI में विकेटकीपर बैटर के तौर पर आए ध्रुव जुरेल। 23 साल के जुरेल ने पहले ही दो टेस्ट मैचों में जिस तरह की बैटिंग की और विकेट के पीछे जिस तरह से तेजी दिखाई, उनकी तुलना महेंद्र सिंह धोनी से होना शुरू हो गई। रांची टेस्ट में टीम इंडिया की पांच विकेट की जीत में जुरेल को प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया था, जिसके बाद सुनील गावस्कर ने उनके लिए कहा था,  एक और 'एमएस धोनी इन मेकिंग....' वहीं टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर अनिल कुंबले ने भी जुरेल की जमकर तारीफ की है।

रजत पाटीदार को टीम से क्यों रिलीज नहीं कर पा रही BCCI? जानिए कारण

उन्होंने कहा, 'हां, ऋषभ पंत हैं, हमें नहीं पता कि वह कब वापसी करेंगे, जब भी यह होता है, और पंत के लिए यह जल्द हो, लेकिन हां अगर जुरेल की बात करें तो उनके पास वह सारी काबिलियत है कि वह अगले एमएस धोनी बन सकते हैं। जुरेल वहां पहुंच सकते हैं, जहां एमएस धोनी अपने करियर के दौरान पहुंचे। जुरेल ने सिर्फ डिफेंड में अपना टेम्परामेंट नहीं दिखाया है, बल्कि उन्होंने अटैक करने में भी पूरा टेम्परामेंट दिखाया है। इतना ही नहीं रांची में पहली पारी में जब उन्होंने इंग्लिश गेंदबाजों की धुनाई की, तब भी वह पूरी तरह से तैयार नजर आए।'

केएल राहुल के आखिरी टेस्ट में खेलने पर भी संशय, नहीं हैं पूरी तरह फिट

कुंबले ने जियो सिनेमा पर कहा, 'इतना ही नहीं विकेट के पीछे भी उन्होंने जबर्दस्त तेजी दिखाई। खासकर तब जब वह तेज गेंदबाजों की गेंद पर विकेटकीपिंग कर रहे थे। स्पिनरों की गेंद पर भी उन्होंने कुछ शानदार कैच लपके। यह सिर्फ उनका दूसरा टेस्ट मैच था और मुझे भरोसा है कि वह जैसे-जैसे और टेस्ट मैच खेलता जाएगा और बेहतर होता जाएगा।' जुरेल ने दो टेस्ट मैचों में 87.5 की औसत और 53.02 के स्ट्राइक रेट से कुल 175 रन बनाए हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें