फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटरिपोर्टर ने शाकिब से पूछा- अगर आप मैथ्यूज की जगह होते तो कैसा फील करते? बांग्लादेशी कप्तान ने दिया ये जवाब

रिपोर्टर ने शाकिब से पूछा- अगर आप मैथ्यूज की जगह होते तो कैसा फील करते? बांग्लादेशी कप्तान ने दिया ये जवाब

शाकिब अल हसन से एक रिपोर्टर ने मैच के बाद पूछा कि अगर आप एंजेलो मैथ्यूज की जगह होते तो कैसा फील करते? इस पर बांग्लादेशी कप्तान ने जवाब देते हुए कहा कि मेरे साथ ऐसा नहीं होता।

रिपोर्टर ने शाकिब से पूछा- अगर आप मैथ्यूज की जगह होते तो कैसा फील करते? बांग्लादेशी कप्तान ने दिया ये जवाब
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 07 Nov 2023 10:01 AM
ऐप पर पढ़ें

श्रीलंका के बल्लेबाज एंजेलो मैथ्यूज को 'टाइम्ड आउट' के तरीके से आउट करार दिए जाने पर बांग्लादेश टीम के कप्तान शाकिब अल हसन का स्टैंड साफ है कि उन्होंने जो भी किया नियमों के भीतर रहकर किया। बांग्लादेश की टीम ने एंजेलो मैथ्यूज को टाइम्ड आउट के तरीके से आउट किया था, क्योंकि टीम का मानना था कि वे दो मिनट के भीतर क्रीज पर नहीं आए थे। अंपायरों ने भी यही माना और उन्हें पवेलियन वापस लौटना पड़ा। इस पूरे मसले पर जब शाकिब अल हसन से पूछा गया तो उन्होंने इसका जवाब बड़ी बेबाकी से दिया। 

पोस्ट मैच प्रेस कॉन्फ्रेंस में शाकिब अल हसन से एक रिपोर्ट ने पूछा कि अगर आप मैथ्यूज की जगह होते तो आपको कैसा लगता? इसके जवाब में शाकिब ने कहा, "मैं सावधान रहता हूं। मेरे साथ ऐसा ना हो।" उनसे आगे सवाल किया गया कि आपने खेल भावना के तहत क्या मैथ्यूज को वापस बुलाने के बारे में विचार नहीं किया? इसके जवाब में शाकिब ने कहा, "आईसीसी को इस पर गौर करना चाहिए और नियम बदलना चाहिए।" इन दो जवाबों से साफ हो गया है कि शाकिब के मुताबिक, उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है।

एंजेलो मैथ्यूज नहीं थे 'टाइम्ड आउट', श्रीलंकाई खिलाड़ी ने ICC को दिया मैच का सबूत और पूछा ये सवाल

मैथ्यूज ने अपने टाइम्ड आउट पर सबूत भी दिया है। उन्होंने एक फोटो पोस्ट करते हुए लिखा है कि जब फील्डर ने कैच पकड़ा और जब वे क्रीज पर पहुंचे तो दो मिनट से कम का समय था। हालांकि, जब वे गेंद खेलने के लिए तैयार हो रहे थे और उन्होंने अपने हेलमेट के स्ट्रैप को खींचा तो वो टूट गया। इसके बाद उन्होंने हेलमेट मंगाया, लेकिन उससे पहले बांग्लादेश की टीम ने अपील की थी कि मैथ्यूज टाइम्ड आउट हैं। अंपायर ने भी इसे माना। हालांकि, किसी ने भी ये चेक करने की कोशिश नहीं की कि कितना समय इस दौरान खर्च हुआ।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें