DA Image
18 अक्तूबर, 2020|10:51|IST

अगली स्टोरी

'रवींद्र जडेजा बने 21वीं शताब्दी के भारत के सबसे बहुमूल्य टेस्ट खिलाड़ी'

विजडन ने खिलाड़ी क्षमता आंकने के लिए क्रिकविज रेटिंग का इस्तेमाल किया है और उनकी रेटिंग 973 बैठती है, जो श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद दूसरे नंबर पर है।

ravindra jadeja photo ht

क्रिकेट की 'बाइबल' समझी जाने वाली पत्रिका विजडन ने ऑल राउंडर रवींद्र जडेजा को 21वीं सदी का भारत का सबसे बहुमूल्य खिलाड़ी घोषित किया है। 2012 में पदार्पण करने के बाद से जडेजा ने क्रिकेटर के रूप में लगातार ऊंचाइयों को छुआ है। पिछले दो सालों में भारतीय टीम में उनका बल्ले, गेंद और फील्डिंग से अमूल्य योगदान रहा है। विजडन ने खिलाड़ी क्षमता आंकने के लिए क्रिकविज रेटिंग का इस्तेमाल किया है और उनकी रेटिंग 97.3 बैठती है, जो श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन के बाद दूसरे नंबर पर है।  पहले स्थान पर श्रीलंका के मुथैया मुरलीधरन हैं 

रवींद्र जडेजा का गेंदबाजी औसत 24.62 शेन वॉर्न से बेहतर है जबकि उनका बल्लेबाजी औसत 35.26 शेन वॉटसन से बेहतर है। जडेजा ने भारत के लिए 49 टेस्ट, 165 वनडे और 49 टी-20 खेले हैं। उन्होंने 49 टेस्ट में 1869 रन बनाने के अलावा 213 विकेट लिए हैं।

चीनी स्पॉन्सर्स से नाता तोड़े आईपीएल, सबसे पहले आता है देश, बाकी सब उसके बाद: नेस वाडिया

उनका बल्लेबाजी और गेंदबाजी का औसत 10.62 का है, जो इस सदी में किसी भी खिलाड़ी का दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है- जिसने 1,000 से अधिक रन बनाए और 150 विकेट लिए हैं। वह एक बहुत ही शानदार ऑलराउंडर हैं। जड़जा को 97 . 3 एमवीपी रेटिंग मिली है और वह दुनिया के दूसरे सबसे उपयोगी खिलाड़ी बने हैं।

जडेजा ने कहा, ''भारत के लिए खेलना एक सपना था और सबसे उपयोगी खिलाड़ी का सम्मान मिलना गर्व की बात है।'' उन्होंने कहा, ''मैं अपने प्रशंसकों, साथी खिलाड़ियों, कोचों और सहयोगी स्टाफ को उनके प्यार और सहयोग के लिए धन्यवाद देता हूं।''

क्रिकविज के फ्रेडी वाइल्ड ने विजडन से कहा, ''भारत के स्पिन गेंदबाज रवींद्र जडेजा को देखकर कोई भी हैरान हो सकता है। वह भारत के नंबर एक खिलाड़ी हैं। वह हमेशा अपनी टेस्ट टीम में ऑटोमेटिक नहीं चुने जाते हैं। हालांकि, जब वह खेलते हैं तो उन्हें फ्रंटलाइन गेंदबाज के रूप में चुना जाता है और नंबर 6 के रूप में टॉप की बल्लेबाजी करते हैं। उनकी मैच में काफी ज्यादा भागीदारी रहती है।''

रवींद्र जडेजा पिछले साल सबसे कम मैचों में 200 विकेट लेने वाले लेफ्ट आर्म बॉलर बने थे। रवींद्र जडेजा ने अपने 44वें मैच में 200वां टेस्ट विकेट लिया  था। इसी के साथ वह सबसे तेजी से 200 विकेट लेने वाले बाएं हाथ के गेंदबाज बन गए थे। सबसे कम मैचों में 200 टेस्ट विकेट लेने वाले भारतीय खिलाड़ियों की लिस्ट में जडेजा दूसरे नंबर पर हैं। आर अश्विन इस सूची में टॉप पर हैं। उन्होंने सिर्फ 37 टेस्ट मैचों में 200 विकेट चटकाए थे। सबसे कम मैचों में 200 टेस्ट विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड पाकिस्तान के लेग स्पिनर यासिर शाह के नाम है। उन्होंने 33 टेस्ट मैचों में ही यह आंकड़ा छुआ था।

मुझे नंबर-3 पर प्रमोट करने का आइडिया सचिन का था, चैपल का नहीं : इरफान पठान

बता दें कि रवींद्र जडेजा की फील्डिंग की तारीफ आज पूरी दुनिया में होती है। लॉकडाउन के दौरान बहुत से क्रिकेटरों ने उन्हें वर्तमान में दुनिया का बेस्ट फील्डर माना है। जडेजा ने भी कई मौकों पर अपनी शानदार फील्डिंग से ना सिर्फ फैन्स को बल्कि बड़े-बड़े क्रिकेटरों को भी हैरान कर दिया है। गौतम गंभीर, जोंटी रोड्स, विराट कोहली, ब्रैड हॉग, स्टीव स्मिथ जैसे दिग्गज जडेजा की फील्डिंग की तारीफ कर चुके हैं।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Ravindra Jadeja named India most valuable Test player of 21st Century