फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटविराट कोहली को क्यों बने रहना चाहिए था अगले 2 साल तक टेस्ट कप्तान, रवि शास्त्री ने बताया कारण

विराट कोहली को क्यों बने रहना चाहिए था अगले 2 साल तक टेस्ट कप्तान, रवि शास्त्री ने बताया कारण

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने विराट कोहली को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि कोहली को दो और साल टेस्ट कप्तान बने रहना चाहिए था। हालांकि, रवि शास्त्री ने ये भी कहा है कि...

विराट कोहली को क्यों बने रहना चाहिए था अगले 2 साल तक टेस्ट कप्तान, रवि शास्त्री ने बताया कारण
Vikash Gaurलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीSun, 23 Jan 2022 07:19 PM

इस खबर को सुनें

भारतीय टीम के पूर्व मुख्य कोच रवि शास्त्री ने विराट कोहली को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि कोहली को दो और साल टेस्ट कप्तान बने रहना चाहिए था। हालांकि, रवि शास्त्री ने ये भी कहा है कि हमें उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए। उन्होंने कहा कि बहुत से लोग इस तथ्य को पचा नहीं पाएंगे कि वह खेल के सबसे लंबे प्रारूप में कप्तान के रूप में 50-60 जीत हासिल कर सकते थे।

पूर्व दिग्गज ऑलराउंडर रवि शास्त्री ने स्पोर्ट्स तक से बात करते हुए कहा कि क्रिकेट बिरादरी को विराट कोहली के टेस्ट कप्तानी छोड़ने के फैसले का सम्मान करना चाहिए। विराट कोहली भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं। उन्होंने 40 टेस्ट मैचों में भारत को जीत दिलाई है। उन्होंने इसी महीने साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से मिली हार के बाद टेस्ट कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था। 

विराट कोहली का ये फैसला इसलिए हैरानी भरा था, क्योंकि सितंबर 2021 में उन्होंने टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने के बाद ये कहा था कि वनडे और टेस्ट के कप्तान बने रहना चाहते हैं। इसके बाद उनसे वनडे की कप्तानी दिसंबर 2021 में छीन ली गई। ऐसे में उन्होंने जनवरी 2022 में टेस्ट कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया। हालांकि, रवि शास्त्री का कहना है कि विराट कोहली को दो साल और कप्तानी करनी चाहिए थे। 

उन्होंने कहा, "क्या विराट टेस्ट में भारत का नेतृत्व करना जारी रख सकते थे। निश्चित रूप से, वह कम से कम 2 वर्षों तक भारत का नेतृत्व कर सकते थे, क्योंकि अगले दो वर्षों में भारत घर पर खेल रहा होगा और कौन आ रहा है - 9 और 10 रैंकिंग वाली टीमें, लेकिन वह तब अपनी कप्तानी में 50-60 जीत हासिल कर लेते थे और बहुत से लोग इस तथ्य को पचा नहीं पाते।" 

शास्त्री ने आगे कहा, "दो साल, वह आगे भी कप्तानी कर सकते थे, लेकिन हमें उनके फैसले का सम्मान करना चाहिए। किसी भी अन्य देश में इस तरह का रिकॉर्ड अविश्वसनीय है। आप ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड के खिलाफ जीते और दक्षिण अफ्रीका से 1-2 से हारे, लेकिन फिर भी, बहस चल रही है कि उन्हें कप्तान होना चाहिए या नहीं।" विराट के साथ रवि शास्त्री ने लंबे समय तक काम किया है। वे 2017 से भारत के कोच थे और विराट कप्तान थे।  

epaper