फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटपंजाब किंग्स ने किया कमाल, IPL में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बनाया ये रिकॉर्ड

पंजाब किंग्स ने किया कमाल, IPL में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बनाया ये रिकॉर्ड

पंजाब किंग्स ने IPL में कमाल कर दिखाया। चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ पंजाब की टीम लगातार पांच मुकाबले जीतने वाली दूसरी टीम बनी है, जबकि चार मैच मुंबई के बाद पंजाब ने ही चेन्नई के मैदान पर जीते हैं।

पंजाब किंग्स ने किया कमाल, IPL में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ बनाया ये रिकॉर्ड
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 02 May 2024 06:55 AM
ऐप पर पढ़ें

पांच बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स को कभी आईपीएल का खिताब नहीं जीतने वाली टीम पंजाब किंग्स ने चारों खाने चित कर दिया। एक मई को चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में खेले गए आईपीएल 2024 के 49वें मैच में पंजाब किंग्स ने मेजबान चेन्नई सुपर किंग्स को सात विकेट से हरा दिया। इसी के साथ कुछ रिकॉर्ड पंजाब किंग्स ने अपने नाम किए। हालांकि, पहले से ही वह रिकॉर्ड मुंबई इंडियंस के नाम दर्ज थे, लेकिन चेन्नई के खिलाफ बड़ी उपलब्धि पंजाब किंग्स ने अपने नाम की है। 

दरअसल, पंजाब किंग्स आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ लगातार पांच मैच जीतने वाली दूसरी टीम बन गई है। मुंबई इंडियंस ने पहले ही ये कमाल किया हुआ है, जबकि पंजाब ने अब इस उपलब्धि को अपने नाम किया है। इसी सीजन दोनों के बीच एक और मैच होने वाला है। अगर उस मैच में पंजाब जीत जाती है तो फिर मुंबई का रिकॉर्ड धराशायी हो हा जाएगा। इसके अलावा भी पंजाब की टीम ने एक रिकॉर्ड चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में बनाया है।

ये भी पढ़ेंः IPL 2024 Points Table में पंजाब किंग्स को हुआ फायदा, अब टॉप 4 पर है इन टीमों का कब्जा 

चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में तीन से ज्यादा मुकाबला अभी तक सिर्फ मुंबई इंडियंस ने जीते थे, लेकिन अब इस लिस्ट में पंजाब किंग्स का नाम भी दर्ज हो गया है। मुंबई इंडियंस ने चेन्नई के चेपॉक स्टेडियम में सीएसके के खिलाफ पांच मुकाबले जीते हैं, जबकि पंजाब की टीम को चौथी बार जीत नसीब हुई। तीसरे नंबर पर कोलकाता नाइट राइडर्स है, जिसने तीन मैच चेपॉक में चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ जीते हैं। इनके अलावा कोई अन्य टीम सीएसके को दो से ज्यादा बार चेपॉक के मैदान पर नहीं हरा पाई है। चेन्नई के लिए बुधवार 1 मई का दिन भुलाने वाला रहा, क्योंकि पहली बार ऐसा हुआ, जब टीम सात से 15 ओवर के बीच एक चौका तक नहीं जड़ पाई, जिसका खामियाजा टीम ने भुगता।