Prithvi Shaw comments on doping ban after making comeback in Syed Mushtaq Ali Trophy - बैन से लौटे पृथ्वी शॉ बोले- हर दिन मुश्किल और बेहद लंबा था DA Image
7 दिसंबर, 2019|7:41|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैन से लौटे पृथ्वी शॉ बोले- हर दिन मुश्किल और बेहद लंबा था

बैन के बारे में पूछे जाने पर पृथ्वी ने कहा, ''मैंने कभी नहीं सोचा था कि ऐसा कुछ होगा। जाहिर है मैं निराश था। प्रतिबंध के पहले 20-25 दिन मैं काफी परेशान था, मैं यह नहीं समझ पा रहा था कि ये कैसे हुआ।''

prithvi shaw  pti

Syed Mushtaq Ali Trophy:  निलंबन की सजा पूरी कर सैयद मुश्ताक अली टी-20 ट्रॉफी में शानदार पारी के साथ वापसी करने वाले मुंबई के युवा खिलाड़ी पृथ्वी शॉ ने कहा कि अब उनका पूरा ध्यान बल्लेबाजी पर है जिससे कि वह भारतीय टीम में वापसी कर सके। डोपिंग टेस्ट में नाकाम रहने के बाद बीसीसीआई ने जुलाई में शॉ पर आठ महीने का बैन लगाया था, जो 16 मार्च 2019 से 15 नवंबर 2019 तक प्रभावी रहा। वापसी के बाद पहले मुकाबाले में 39 गेंद में 63 रन बनाने वाले शॉ ने कहा, ''अब मेरा पूरा ध्यान अधिक से रन बनाने और टीम के लिए मैच जीतने पर रहेगा।'' बैन के वक्त के बारे में बात करते हुए पृथ्वी ने कहा कि यह काफी मुश्किल और परेशान करने वाला वक्त था।

पृथ्वी शॉ ने आदित्य तारे (48 गेंद में 82 रन) के साथ पहले विकेट के लिए 13.4 ओवर में 138 रन की साझेदारी कर बड़े स्कोर की नींव रखी, जिससे मुंबई ने असम को 83 रन से करारी शिकस्त दी।

VIDEO: पृथ्वी शॉ ने की धमाकेदार वापसी, 32 गेंदों में जड़ा अर्धशतक

ICC Test Ranking: शमी और मयंक टेस्ट करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग पर

बैन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''मैंने कभी नहीं सोचा था कि ऐसा कुछ होगा। जाहिर है मैं निराश था। प्रतिबंध के पहले 20-25 दिन मैं काफी परेशान था, मैं यह नहीं समझ पा रहा था कि ये कैसे हुआ। मेरे अभ्यास करने पर 15 सितंबर तक रोक लगी थी इसलिए मैं लंदन गया और खुद को मानसिक तौर पर मजबूत करने के लिए काम करना शुरू किया।''

उन्होंने कहा, ''लेकिन हर दिन मुश्किल था और बेहद लंबा बीत रहा था। पर अब यह अतीत है।'' उन्होंने कहा कि इस दौरान पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में उनकी काफी मदद की। उन्होंने कहा, ''मेरे दिमाग में कुछ भी नहीं था। बैन की वजह से कुछ नहीं कर सकता था। वहां मैंने कई फिटनेस टेस्ट दिए।''

भारतीय टीम में वापसी के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''मेरा ध्यान सिर्फ रन बनाने पर रहेगा। इस बारे में सोचना चयनकर्ताओं का काम है। मेरा काम रन बनाना और टीम को जीत दिलाना है।'' डेब्यू टेस्ट में शतकीय पारी खेलने वाले शॉ के लिए राष्ट्रीय टीम में वापसी करना काफी मुश्किल होगा, क्योंकि सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा शानदार लय में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Prithvi Shaw comments on doping ban after making comeback in Syed Mushtaq Ali Trophy