DA Image
हिंदी न्यूज़ › क्रिकेट › PM मोदी ने की 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा, आर्चर का दो साल पुराना ट्वीट हुआ वायरल
क्रिकेट

PM मोदी ने की 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा, आर्चर का दो साल पुराना ट्वीट हुआ वायरल

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Mohan
Wed, 25 Mar 2020 12:46 PM
PM मोदी ने की 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा, आर्चर का दो साल पुराना ट्वीट हुआ वायरल

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर अपने खेल के अलावा अपने ट्वीट्स के लिए भी बहुत मशहूर हैं। उन्होंने सालों पहले कुछ ऐसे ट्वीट्स किए हैं, जो अभी के समय में एकदम सच साबित हुए हैं। विश्व कप 2019 के समय सुपर ओवर और बेन स्टोक्स को लेकर उनके सालों पुराने ट्वीट्स सही साबित हुए थे और अब कोरोनावायरस संक्रमण के दौरान भी उनके कुछ पुराने ट्वीट्स वायरल हो रहे हैं। भारत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जैसे ही देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की, आर्चर का दो साल पुराना ट्वीट वायरल हो गया। आर्चर ने दो साल पहले ट्वीट में लिखा था, तीन सप्ताह काफी नहीं हैं।

कप्तानी छोड़ने को लेकर पोंटिंग बोले- हार मानना बहुत तकलीफ देता है

कोरोनावायरस संक्रमण से पूरी दुनिया परेशान है, भारत में अभी तक 500 से ज्यादा लोग इस महामारी से संक्रमित हो चुके हैं और इसको देखते हुए पीएम मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की। आर्चर ने 23 अक्टूबर 2017 को ट्वीट में लिखा था, 'तीन सप्ताह घर पर काफी नहीं हैं।' तीन सप्ताह यानी कि 21 दिन, और 
लॉकडाउन के दौरान पूरे देश को 21 दिन तक घर में ही बैठना पड़ेगा।

अगर कोरोनावायरस संक्रमण को लेकर सुधार नहीं आता है तो यह लॉकडाउन बढ़ाया भी जा सकता है। इसके अलावा 20 अगस्त 2014 को आर्चर ने ट्वीट में लिखा था, 'एक समय ऐसा आएगा जब किसी के पास भागकर कहीं जाने की जगह नहीं बचेगी।' कोरोनावायरस संक्रमण में ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है।

लगभग हर देश इससे जूझ रहा है और लोगों के पास इससे बचने के लिए जगह नहीं बची हैं। आर्चर के ये दोनों ट्वीट्स वायरल हो गए हैं और इन पर काफी कमेंट्स भी आ रहे हैं। लोग तो उन्हें जोफ्रा भगवान भी कहने लगे हैं। नीचे देखें लोगों के कमेंट्स-

कप्तानी छोड़ने को लेकर पोंटिंग बोले- हार मानना बहुत तकलीफ देता है 

इस आर्टिकल को शेयर करें
लाइव हिन्दुस्तान टेलीग्राम पर सब्सक्राइब कर सकते हैं।आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं? हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

सब्सक्राइब
अपडेट रहें हिंदुस्तान ऐप के साथ ऐप डाउनलोड करें

संबंधित खबरें