फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटखिलाड़ी टीम के बजाए अपने लिए खेलें तो...पूर्व कोच मिकी आर्थर ने खोली पाकिस्तान क्रिकेट की कलई

खिलाड़ी टीम के बजाए अपने लिए खेलें तो...पूर्व कोच मिकी आर्थर ने खोली पाकिस्तान क्रिकेट की कलई

Mickey Arthur on Pakistan Cricket: मिकी आर्थर ने पाकिस्तान क्रिकेट की कलई खोली है। पाकिस्तान के पूर्व कोच आर्थर ने कहा कि अगर खिलाड़ी टीम के बजाए अपने लिए खेलना शुरू कर दें तो यह बेहद खतरनाक स्थित है।

खिलाड़ी टीम के बजाए अपने लिए खेलें तो...पूर्व कोच मिकी आर्थर ने खोली पाकिस्तान क्रिकेट की कलई
Md.akram लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 03 Feb 2024 12:57 PM
ऐप पर पढ़ें

मिकी आर्थर ने पाकिस्तान क्रिकेट की कलई खोली है। पाकिस्तान टीम के पूर्व हेड कोच आर्थर ने कहा कि अगर खिलाड़ी टीम के बजाए अपने लिए खेलना शुरू कर दें तो यह खतरनाक है। उनका कहना है कि पाकिस्तान में काफी टैलेंट है मगर मैनेजमेंट से पर्याप्त सहयोग नहीं मिलता। बता दें कि पाकिसतान का वनडे वर्ल्ड कप 2023 में प्रदर्शन निराशानजक रहा, जिसके बाद कई बदलाव देखने को मिले। बाबर आजम ने तीनों फॉर्मेट की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था और फिर पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) ने  शान मसूद को टेस्ट और शाहीन अफरीदी को टी20 टीम की कमान सौंपी।

कप्तान बदलने के बावजूद पाकिस्तान के प्रदर्शन में कोई खास सुधार नहीं हुआ। पाकिस्तान का ऑस्ट्रेलिया में तीन मैच की टेस्ट सीरीज में सूपड़ा साफ हो गया। वहीं, शाहीन ब्रिगेड को न्यूजीलैंड में पांच मैचों की टी20 सीरीज में 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। आर्थर वर्ल्ड कप के दौरान पाकिस्तान क्रिकेट टीम के डायरेक्टर थे। फिलहाल, पूर्व ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज टीम के डायरेक्टर हैं। आर्थर ने ईएसपीएनक्रिकइन्फो से कहा, ''मैं अभी भी पाकिस्तान क्रिकेट को फॉलो करता हूं और हमेशा करता रहूंगा। लेकिन पाकिस्तान क्रिकेट के लिए मुझमें जो जोश, प्यास और जुनून था, वो थोड़ा कम हो गया है। ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि पाकिस्तान क्रिकेट बहुत निराशाजनक स्थिति में है।''

आर्थर ने कहा, ''वहां बड़ी तादाद में टैलेंट है। वहां सिर्फ प्रतिभाशाली खिलाड़ी ही नहीं बल्कि कुछ वर्ल्ड क्लास प्लेयर भी हैं। उन्हें वो सपोर्ट नहीं दिया गया, जिसकी फलने-फूलने के लिए जरूरत है।'' पूर्व कोच ने आगे कहा, ''जब माहौल में सुरक्षा होती है तो पाकिस्तान बहुत अच्छा होता है। जब असुरक्षा होती है तो खिलाड़ी टीम के बजाय अपने लिए खेलना शुरू कर देते हैं क्योंकि वे अगले टूर और अगले कॉन्ट्रैक्ट के बारे में सोच रहे होते हैं। यह एक खतरनाक स्थिति है और पाकिस्तान क्रिकेट अभी इसी स्थिति में है। यह कुछ ऐसा है जो मेरे लिए बहुत निराशाजनक और दुखद है।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें