DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   क्रिकेट  ›  NZ vs IND Test Series: 2023 वर्ल्ड कप के बाद विराट कोहली क्रिकेट के एक फॉरमैट से ले सकते हैं संन्यास

क्रिकेटNZ vs IND Test Series: 2023 वर्ल्ड कप के बाद विराट कोहली क्रिकेट के एक फॉरमैट से ले सकते हैं संन्यास

लाइव हिन्दुस्तान टीम,वेलिंगटनPublished By: Namita
Wed, 19 Feb 2020 10:50 PM
NZ vs IND Test Series: 2023 वर्ल्ड कप के बाद विराट कोहली क्रिकेट के एक फॉरमैट से ले सकते हैं संन्यास

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली खिलाड़ियों को बिजी शेड्यूल को लेकर कई बार बेबाकी से अपनी बात रख चुके हैं। न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज के आगाज से पहले विराट कोहली ने एक बार फिर भारी वर्कलोड को लेकर अपनी बात रखी है। विराट ने ऐसे संकेत भी दिए कि वो 2023 वर्ल्ड कप के बाद क्रिकेट के एक फॉरमैट में खेलना छोड़ भी सकते हैं। विराट ने कहा कि वो तीन साल तक कड़ी मेहनत के साथ क्रिकेट के तीनों फॉरमैट खेलने के लिए तैयार हैं। 

भज्जी ने किया रोहित को ट्रोल, हिटमैन ने जवाब देकर कर दी 'बोलती बंद'

दुनिया के बेस्ट बल्लेबाजों में गिने जाने वाले कोहली अगले तीन साल में टी-20 वाली दो और 50 ओवर वाली एक विश्वकप सीरीज के साथ भारतीय क्रिकेट की एक बड़ी तस्वीर देखते हैं, जिसके बाद वो तीनों फॉरमैट में से किन्हीं दो में खेलने का फैसला कर सकते हैं। जब कोहली से पूछा गया कि क्या भारत में 2021 के विश्वकप टी-20 के बाद कम से कम एक फॉरमैट को छोड़ने के बारे में फिर से सोच कर रहे हैं तो उन्होंने कहा, 'मेरी सोच बड़ी तस्वीर वाली है जहां मैं खुद को अब से तीन साल की कड़ी मेहनत के लिए तैयार कर रहा हूं।'

NZvIND: विराट ने बताया कैसा होगा पहले टेस्ट का प्लेइंग XI कॉम्बिनेशन

उन्होंने माना कि थकान और वर्कलोड मैनेजमेंट ऐसे मुद्दे हैं जिन पर हर फोरम पर बातचीत होनी चाहिए। कोहली ने कहा, 'करीब आठ साल से मैं हर साल 300 दिन खेल रहा हूं, जिसमें ट्रैवल और प्रैक्टिस सेशन भी शामिल हैं।' इस साल 31 साल के हो रहे भारतीय क्रिकेट कप्तान ने माना कि बीच-बीच में छुट्टियां लेना उनके लिए कारगर रहा है। उन्होंने कहा, 'ऐसा नहीं है कि खिलाड़ी हर वक्त इसके बारे में नहीं सोचते। हम व्यक्तिगत रूप से कई ब्रेक लेते हैं भले ही मैचों के कार्यक्रम के बीच हमें इसकी गुंजाइश नहीं लगती हो। यह बात उन लोगों के लिए खासतौर पर लागू है जो हर तरह के फॉरमैट में खेलते हैं।' कोहली के लिए यह केवल उनके प्रदर्शन की बात नहीं है बल्कि नेतृत्व की भी बात है जिसके लिए उन्हें हर समय रणनीति बनाने के मकसद से दिमाग को आराम की जरूरत होगी।

संबंधित खबरें