फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटT20 वर्ल्ड कप 2024 में बैटर्स की कब्रगाह बने न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी स्टेडियम का नहीं रहेगा नामोनिशान, समझिए क्या है पूरा माजरा

T20 वर्ल्ड कप 2024 में बैटर्स की कब्रगाह बने न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी स्टेडियम का नहीं रहेगा नामोनिशान, समझिए क्या है पूरा माजरा

अब न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी क्रिकेट स्टेडियम का नामोनिशान नहीं बचेगा, क्योंकि ये एक अस्थायी स्टेडियम था, जहां T20 World Cup 2024 के 8 मैच खेले गए। इनमें इंडिया वर्सेस पाकिस्तान मैच भी शामिल था। 

T20 वर्ल्ड कप 2024 में बैटर्स की कब्रगाह बने न्यूयॉर्क के नसाउ काउंटी स्टेडियम का नहीं रहेगा नामोनिशान, समझिए क्या है पूरा माजरा
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 13 Jun 2024 04:29 PM
ऐप पर पढ़ें

न्यूयॉर्क के आइजनहावर पार्क के नसाउ में आईसीसी ने टी20 वर्ल्ड कप 2024 के लिए इंटरनेशनल क्रिकेट तैयार कराया था। ये एक अस्थायी स्टेडियम था। टी20 वर्ल्ड कप 2024 के कुल 8 मैच यहां खेले जाने थे और इन सभी मैचों का आयोजन हो चुका है। एक भी मैच हाई स्कोरिंग नहीं था, फिर भी कांटे के मुकाबले हुए। हालांकि, फैंस इस तरह के मैच टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में देखना पसंद नहीं करते। इसके लिए आईसीसी की आलोचना भी हुई, क्योंकि इस स्टेडियम में 4 ड्रॉप इन पिचों का इस्तेमाल किया गया था, जो कुछ ही महीने पहले एडिलेड से मंगवाई गई थीं। 

ड्रॉप-इन पिचों को सेट होने में 8 से 10 महीने लगते हैं, लेकिन न्यूयॉर्क में 8 से 10 सप्ताह भी नहीं हुए कि टी20 वर्ल्ड कप के मैचों का आयोजन करना पड़ा। यही वजह रही कि इस मैदान का औसत स्कोर पहली पारी का 108 रन था। आईसीसी ने इस स्टेडियम को बनाने के लिए करीब 250 करोड़ रुपये खर्च किए। ये स्टेडियम 106 दिनों में बनकर तैयार हुआ था, लेकिन अब इस स्टेडियम को डिस्मेंटल किया जाएगा, क्योंकि ये अस्थायी स्टेडियम था। इंडिया वर्सेस यूएसए मैच के ठीक बाद इस स्टेडियम को डिस्मेंटल करने का काम शुरू हो गया है, जो करीब 6 सप्ताह में खत्म हो जाएगा। मैच के बाद ही स्टेडियम को डिस्मेंटल करने के लिए बुल्डोजर आ गए थे।

बाढ़ बिगाड़ेगी पाकिस्तान का खेल, USA को मिल जाएगा T20 वर्ल्ड कप 2024 के सुपर 8 का टिकट

एक तरह से कहा जाए तो अगले महीने के आखिर तक इस स्टेडियम का नामोनिशान नहीं बचेगा। फिर से वही पार्क नजर आएगा, जो इसी साल जनवरी की शुरुआत में था। हालांकि, यहां क्या ड्रॉप-इन पिच लगी रहेंगी? इसका भविष्य अभी तय नहीं हुआ है। आईसीसी के अधिकारियों ने क्रिकबज को बताया है कि अगर नसाउ काउंटी के अधिकारी चाहते हैं कि ये पिच लगी रहें और इनकी मैंटेनेंस होता रहे तो यह लगी रह सकती हैं। अन्यथा इन पिचों को री-लोकेट किया जाएगा। हालांकि, आउटफील्ड यहां रहेगा। इसे भी बाहर एक नर्सरी की तरह तैयार किया गया था।