फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटMumbai vs Baroda Ranji Trophy: तुषार देशपांडे और तनुष ने 10वें-11वें नंबर पर बैटिंग कर ठोका शतक, 78 साल बाद हुआ ऐसा करिश्मा

Mumbai vs Baroda Ranji Trophy: तुषार देशपांडे और तनुष ने 10वें-11वें नंबर पर बैटिंग कर ठोका शतक, 78 साल बाद हुआ ऐसा करिश्मा

फर्स्ट क्लास क्रिकेट के इतिहास में दूसरी बार ऐसा हुआ है कि नंबर-10 और नंबर-11 के बैटर ने एक ही मैच में शतक ठोका हो। तुषार देशपांडे और तनुष ने मिलकर मुंबई की ओर से यह करिश्मा कर दिखाया है।

Mumbai vs Baroda Ranji Trophy: तुषार देशपांडे और तनुष ने 10वें-11वें नंबर पर बैटिंग कर ठोका शतक, 78 साल बाद हुआ ऐसा करिश्मा
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 27 Feb 2024 12:06 PM
ऐप पर पढ़ें

रणजी ट्रॉफी 2023-24 के क्वॉर्टर फाइनल मैच में मुंबई की ओर से तुषार देशपांडे और तनुष कोटियन ने मिलकर एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया है, जो इतिहास के पन्नों में दर्ज होगा। मुंबई की ओर से दूसरी पारी में इन दोनों ने 10वें और 11वें नंबर पर बैटिंग करते हुए शतक ठोका है। मुंबई 337 रनों पर 9वां विकेट गंवाया था, लेकिन इसके बाद तुषार और तनुष ने मिलकर स्कोर 569 रनों तक पहुंचा दिया। तनुष 120 रन बनाकर नॉटआउट लौटे, जबकि तुषार देशपांडे 123 रन बनाकर आउट हुए। फर्स्ट क्लास क्रिकेट के इतिहास में महज दूसरी बार ऐसा हुआ है कि एक ही पारी में 10वें और 11वें नंबर के बैटर ने शतक ठोका हो। मजेदार बाद यह है कि यह कारनामा दोनों बार भारतीय खिलाड़ियों ने ही किया है। 78 साल बाद फर्स्ट क्लास क्रिकेट में यह कारनाम कोई कर पाया है। इससे पहले 1946 में इंडियंस वर्सेस सरे मैच के दौरान चंदू सरवाटे और शूते बनर्जी ने यह कारनामा किया था।

कुंबले ने इंग्लैंड को दी ये बड़ी सलाह, बोले- आप इसे बैजबॉल कहो या...

द ओवल मैदान पर खेला गया वह मैच इसलिए भी ऐतिहासिक था, क्योंकि इंडियंस ने वह मैच 9 विकेट से अपने नाम किया था। भारत तब अंग्रेजों के कब्जे से आजाद भी नहीं हुआ था। मुंबई और बड़ौदा के बीच रणजी ट्रॉफी का दूसरा क्वॉर्टर फाइनल मैच मुंबई के शरद पवार क्रिकेट एकैडमी बीकेसी में खेला जा रहा है। मुंबई ने पहली पारी में 384 रन बनाए, जवाब में बड़ौदा पहली पारी में 348 रनों पर सिमट गया।

टीम इंडिया का विनिंग मोमेंट वायरल, द्रविड़ के चेहरे पर थी अलग खुशी

पहली पारी की बढ़त को मिलाकर मुंबई अब बड़ौदा से 605 रन आगे है। बड़ौदा को मैच जीतने के लिए 606 रन बनाने होंगे, ऐसे में मुंबई की जीत यहां से तय ही है और उसका सेमीफाइनल का टिकट भी पक्का हो गया है। तनुष ने 129 गेंदों पर 10 चौके और चार छक्कों की मदद से 120 रन बनाए, वहीं तुषार देशपांडे 129 गेंदों पर 10 चौके और आठ छक्कों की मदद से 123 रन बनाकर आउट हुए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें