फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटRanji Trophy: मुंबई ने 93 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर रचा इतिहास, उत्तराखंड पर दर्ज की फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत

Ranji Trophy: मुंबई ने 93 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर रचा इतिहास, उत्तराखंड पर दर्ज की फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत

मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तराखंड को 725 रनों से मात देते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। मुंबई की यह जीत रनों के मामले में फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत है।

Ranji Trophy: मुंबई ने 93 साल पुराना रिकॉर्ड तोड़कर रचा इतिहास, उत्तराखंड पर दर्ज की फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत
Lokesh Kheraलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 09 Jun 2022 01:22 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Mumbai Ranji Trophy: पृथ्वी शॉ की अगुवाई वाली मुंबई ने रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में उत्तराखंड को 725 रनों के बड़े अंतर से मात देते हुए सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। मुंबई की यह जीत रनों के मामले में फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत है। सुवेद पारकरी (252) के दोहरे शतक और सरफराज खान की 153 रनों की शतकीय पारी के दम पर मुंबई ने पहली पारी 647/8 पर घोषित कर दी। उत्तराखंड अपनी पहली पारी में मात्र 114 रनों पर ढेर हो गया। मुंबई के लिए इस दौरान शम्स मुलानी ने सबसे अधिक 5 विकेट लिए। 533 रनों की बढ़त के साथ मुंबई ने दूसरी पारी 261/3 पर घोषित कर उत्तराखंड के सामने 794 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। उत्तराखंड के बल्लेबाजों ने एक बार फिर निराश किया और पूरी टीम लक्ष्य का पीछा करत हुए मात्र 69 रनों पर ही ढेर हो गई।

रनों के मामले में फर्स्ट क्लास क्रिकेट की सबसे बड़ी जीत

मुंबई ने उत्तराखंड पर फर्स्ट क्लास क्रिकेट के इतिहास की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। मुंबई ने न्यू साउथ वेल्स के रिकॉर्ड को तोड़ है। 1929/30 में इस टीम ने क्वींसलैंड को 685 रनों से हराया था। 93 साल बाद आज मुंबई ने इस रिकॉर्ड को ध्वस्त किया है। वहीं रणजी ट्रॉफी में रनों के मामले में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड इससे पहले बंगाल के नाम था जब उन्होंने 1953-54 में ओडिशा को 540 रनों से हराया था।

देखें रनों के मामले में फर्स्ट क्लास क्रिकेट में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड-

  • मुंबई (उत्तराखंड के खिलाफ, 2022 में) - 725 रन
  • न्यू साउथ वेल्स (क्वींसलैंड के खिलाफ, 1929/30 में) - 685 रन
  • इंग्लैंड (ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, 1928/29 में) - 675 रन
  • न्यू साउथ वेल्स (दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ, 1920/21 में) - 638 रन

epaper