फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटजब इंटरनेशनल क्रिकेट से आजाद हुए भारत के ये दो सितारे, एक सुनहरे दौर का हुआ था अंत

जब इंटरनेशनल क्रिकेट से आजाद हुए भारत के ये दो सितारे, एक सुनहरे दौर का हुआ था अंत

2020 में 15 अगस्त के दिन इंटरनेशनल क्रिकेट से आजाद होने का काम पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना ने किया था। करीब एक दशक तक एकसाथ खेलने वाले इन दोनों दिग्गजों ने विदाई ली थी। 

जब इंटरनेशनल क्रिकेट से आजाद हुए भारत के ये दो सितारे, एक सुनहरे दौर का हुआ था अंत
Vikash Gaurविकाश गौड़,नई दिल्लीMon, 15 Aug 2022 10:40 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

भारत में 15 अगस्त को आजाद दिवस कहा जाता है, क्योंकि इसी दिन भारत को आजादी मिली थी। वहीं, 2020 में 15 अगस्त के दिन इंटरनेशनल क्रिकेट से भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और सुरेश रैना आजाद हुए थे। करीब एक दशक तक एकसाथ इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने वाले इन दो दिग्गजों ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से विदाई ली थी। धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट को करीब 15 साल दिए थे और रैना करीब 13 साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेले। 

एमएस धोनी ने 15 अगस्त 2020 की शाम को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए उन्होंने अपने रिटायरमेंट का ऐलान किया था। धोनी ने जो वीडियो शेयर किया था, उसमें हर किसी के लिए एक संदेश था। धोनी ने फिल्म कभी-कभी का गाना मैं पल दो पल का शायर हूं, पल दो पल मेरी कहानी है, अपने वीडियो में यूज किया था। वीडियो के कैप्शन में उन्होंने लिखा था, "आपके भरपूर प्यार और समर्थन के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। 1929 बजे से मुझे रिटायर समझा जाए।"   

वहीं, वीडियो के आखिरी के शेर में  कहा गया था, "कल नई कोंपलें फूटेंगी, कल नए फूल मुस्काएंगे और नई घास के नए फर्श पर नए पांव इठलाएंगे। वो मेरे बीच नहीं आए, मैं उनके बीच में क्यों आऊं, उनकी सुबह और शामों का मैं एक भी लम्हा क्यों पाऊं।" इसके मायने ये था कि मैं पूर्व क्रिकेटर उनके बीच में नहीं आए तो वे युवा खिलाड़ियों के बीच में क्यों आएं। इसके अलावा एक संदेश ये भी था कि एक दिन हर किसी को अपना कार्य क्षेत्र छोड़ना पड़ता है। धोनी कोई नया नाम नहीं है। 

एमएस धोनी ने साल 2004 के आखिर में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था और 2019 के वर्ल्ड कप में आखिरी मुकाबला खेला था। उन्होंने इन 15 सालों में 90 टेस्ट, 350 वनडे इंटरनेशनल और 98 टी20 इंटरनेशनल मैच खेले थे। वनडे क्रिकेट में माही के बल्ले से 10773 रन, टेस्ट क्रिकेट में 4876 रन और टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में 1617 रन निकले थे। वनडे क्रिकेट में उनके नाम 10 और टेस्ट क्रिकेट में एक दोहरे शतक के साथ 6 शतक शामिल हैं। 

आपको बता दें, जैसे ही एमएस धोनी के रिटायरमेंट की बात सुरेश रैना को पता चली तो उन्होंने भी कुछ ही देर में इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया। धोनी और रैना की दोस्ती बहुत ही खास रही है। रैना धोनी का सम्मान करते हैं और उनके लिए वे कुछ भी कर सकते हैं। यही कारण था कि रैना ने भी अपने रिटायरमेंट का ऐलान धोनी के साथ कर दिया था। रैना भारत के पहले ऐसे क्रिकेटर थे, जिन्होंने तीनों फॉर्मेट में शतक जड़ा था। 

epaper