DA Image
7 जुलाई, 2020|6:07|IST

अगली स्टोरी

क्रिकेट मैदान में उतरने से पहले स्टुअर्ट ब्रॉड की मां ने दी यह खास सलाह

stuart broad jpg

इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड ने चिंता जताई है कि खिलाड़ियोंके लिए मैदान में प्रशंसकों की अनुपस्थिति में अंतररार्ष्ट्रीय क्रिकेट मैच खेलना किसी मानसिक परीक्षा से कहीं अधिक होगा।
ब्रॉड मैदान में प्रशंसकों के बिना क्रिकेट खेलने को लेकर खुद को मानसिक रूप से तैयार करने के लिए टीम के मनोवैज्ञानिक की मदद ले रहे हैं। इसके साथ ही ब्रॉड की मां ने भी उन्हें मैदान पर उतरने से पहले खास सलाह दी है।

ब्रॉड ने वचुर्अल प्रेस कांफ्रेंस में खुलासा किया कि वह टीम के मनोवैज्ञानिक डेविड यंग की मदद ले रहे हैं ताकि वह खुद को यह समझाने के लिए तैयार कर सकें कि ये सभी मैच सामान्य मैच होंगे। ब्रॉड ने इस दौरान एक 12 साल के  लड़के की मानसिकता को अपनाने की अपनी मां की सलाह पर भी काम किया है।

1 अगस्त से होगी इंग्लिश काउंटी चैम्पियनशिप की शुरुआत: ECB

ब्रॉड ने कहा कि उन्होंने इस सप्ताह टेस्ट सीरीज के लिए निकलने से पहले अपनी मां मिशेल से बातचीत की थी जिन्होंने उन्हें यह याद करने की कोशिश करने की सलाह दी थी कि एक बच्चे के रूप में क्रिकेट खेलना कैसा लगता था। उन्होंने कहा, “घर से निकलने से पहले मेरी मां ने मुझसे कुछ कहा था। उन्होंने कहा था कि मैं खुद को 12 वर्ष के उस उसे बच्चे की तरह देखूं, जो जहां भी संभव हो बस क्रिकेट खेलना चाहता था।”

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने पुष्टि कर चुका है कि इस गर्मी के मौसम में वेस्टइंडीज और पाकिस्तान के खिलाफ इंग्लैंड के सभी छह टेस्ट मैच प्रशसंकों की उपस्थति के बिना खेले जाएंगे। इंग्लैंड ने जुलाई में वेस्ट इंडीज से तीन टेस्टों की सीरीज खेलनी है। इंग्लैंड इसके बाद अगस्त-सितम्बर में पाकिस्तान के खिलाफ तीन टेस्ट और तीन टी-20 मैच खेलेगा। ये सभी मैच दर्शकों के बिना खेले जाएंगे। 

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है कि लोगों की भीड़ के बिना खेलने में थोड़ा अलग महसूस होगा। इस स्थिति में प्रत्येक खिलाड़ी के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलना मानसिक परीक्षा से कहीं अधिक होगा। मैंने हमारे स्पोट्र्स  मनोवैज्ञानिक से इस बारे में बात की है ताकि इस तरह की स्थिति मैं अपनी भावनाओं का सही इस्तेमाल कर सकूं।”

 ब्रॉड ने कहा, “यह मेरे लिए चिंता की बात है क्योंकि मुझे पता है कि मैं एक खिलाड़ी के तौर पर दबाव में अपना सर्वश्रष्ठ प्रदर्शन देता हूं, जब खेल बहुत रोमाचंक हो जाता है और जब इसे बदलने की जरूरत होती है। मैं जानता हूं कि कुछ निश्चित परिदृश्य है जो एक क्रिकेटर के रूप में मेरे खराब प्रदर्शन का बाहर लाते हैं और उस समय मुझे महसूस होता है कि अब खेल में कुछ भी नहीं बचा है।”

CPL 2020: ताम्बे का दावा- त्रिनबागो ने खरीदा, फ्रेंचाइजी अनजान

तेज गेंदबाज ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि वह प्रशंसकों की अनुपस्थिति में भी बल्लेबाजों के खिलाफ खेलने के लिए खुद को तैयार कर लेंगे। उन्होंने कहा कि वह अपने चारों ओर एक ऐसे 'परिदृश्य' का निर्माण करने में सक्षम हो जाएंगे जिससे वह अपने स्तर की गेंदबाजी कर सकें।'' उन्होंने कहा, “अब विपक्षी टीम के बल्लेबाजों के बारे और अधिक रिसर्च करने की जरूरत है ताकि उनके खिलाफ मुझे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रशंसकों पर निर्भर न रहना पड़े।”

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mother s advice and England psychologist helping Stuart Broad prepare mentally for cricket amid Covid 19 crisis