फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटमोहसिन खान का रूह कंपाने वाला खुलासा, बोले- मेरा हाथ कटते-कटते बचा, किसी को ना हो ये बीमारी

मोहसिन खान का रूह कंपाने वाला खुलासा, बोले- मेरा हाथ कटते-कटते बचा, किसी को ना हो ये बीमारी

मोहसिन ने आईपीएल 2023 के 63वें मैच में LSG को 5 रन से रोमांचक जीत दिलाई। मोहसिन ने मैच के बाद रूह कंपाने वाला खुलासा किया। उन्होंने कहा कि अगर पिछले साल वह सर्जरी के लिए लेट हो जाते तो हाथ कट सकता था।

मोहसिन खान का रूह कंपाने वाला खुलासा, बोले- मेरा हाथ कटते-कटते बचा, किसी को ना हो ये बीमारी
Md.akram भाषा,लखनऊWed, 17 May 2023 03:41 PM
ऐप पर पढ़ें

लखनऊ सुपर जायंट्स (एलएसजी) के तेज गेंदबाज मोहसिन खान ने आईपीएल 2023 में मुंबई इंडियंस (एमआई) के खिलाफ यादगार जीत दिलाने के बाद अपनी बीमारी का जिक्र करते हुए बताया कि अगर वह चिकित्सकों के पास सही समय पर नहीं पहुंचते तो उनका हाथ भी काटना पड़ सकता था। मुंबई को आखिरी ओवर में जीत के लिए 11 रन की जरूरत थी। क्रीज पर टिम डेविड और कैमरन ग्रीन जैसे आक्रामक बल्लेबाज थे लेकिन मोहसिन ने शानदार गेंदबाजी कर टीम को यादगार जीत दिलाई। इस जीत से लखनऊ की टीम प्लेऑफ में जगह पक्की करने के करीब पहुंची। 

इस तेज गेंदबाज को पिछले साल कंधे की सर्जरी करानी पड़ी थी। उनके बाएं कंधे में खून के थक्के जम गए थे। इस सर्जरी के कारण वह पूरे घरेलू सत्र और आईपीएल के शुरुआती मैच नहीं खेल पाए थे। मोहसिन ने मैच के बाद संवाददाताओं से कहा, ''एक समय था जब मैंने क्रिकेट खेलने का भरोसा छोड़ दिया था क्योंकि मेरा हाथ उठता भी नहीं था। बहुत कोशिश करके हाथ किसी तरह उठाता था तो यह सीधा नहीं होता था।'' 

उन्होंने कहा, ''यह चिकित्सा संबंधी बीमारी थी। मैं उस समय को याद करके डर जाता हूं, क्योंकि डॉक्टरों ने कहा था कि अगर मैं सर्जरी में एक महीना और विलंब करता, तो मेरा हाथ भी काटना पड़ सकता था।'' इस 24 साल के तेज गेंदबाज ने कहा, ''मै चाहूंगा कि किसी भी क्रिकेटर को यह बीमारी ना हो। यह अजीब तरह की बीमारी थी। मेरी धमनियां पूरी तरह से बंद हो गई थीं। इनमें खून के थक्के जम गए थे। क्रिकेट संघ (उत्तर प्रदेश क्रिकेट संघ), राजीव शुक्ला सर, मेरी फ्रेंचाइजी (लखनऊ सुपरजायंट्स) , मेरे परिवार ने इस मुश्किल समय में काफी समर्थन किया, सहयोग दिया। सर्जरी से पहले और उसके बाद मैंने बहुत ही कठिन समय देखा है लेकिन सब ने मेरा साथ दिया।'' 

आखिरी ओवर की योजना के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ''जाहिर है कि इसका दबाव होता है। मैं मैदान में वही करने की कोशिश कर रहा था जो हम आमतौर पर अभ्यास के दौरान करते है। मैं 10 या 11 रन का बचाव करने के बारे में नहीं सोच रहा था। मै छह अच्छी गेंद डालने के बारे में सोच रहा था।''