फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटमोहम्मद शमी ने कप्तान हार्दिक पांड्या को दी है बड़ी सलाह, कहा- भावनाओं पर काबू रखो दुनिया क्रिकेट देखती है

मोहम्मद शमी ने कप्तान हार्दिक पांड्या को दी है बड़ी सलाह, कहा- भावनाओं पर काबू रखो दुनिया क्रिकेट देखती है

मोहम्मद शमी ने हार्दिक पांड्या की तारीफ करते हुए कहा कि आईपीएल में पहली बार खेल रही टीम (गुजरात टाइटंस) का कप्तान बनने के बाद उनके बर्ताव में काफी बदलाव आया है।

मोहम्मद शमी ने कप्तान हार्दिक पांड्या को दी है बड़ी सलाह, कहा- भावनाओं पर काबू रखो दुनिया क्रिकेट देखती है
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीFri, 13 May 2022 10:50 PM

इस खबर को सुनें

अनुभवी तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का मानना है कि नेतृत्व की जिम्मेदारी ने मैदान पर आक्रामक हाव-भाव दिखाने वाले हार्दिक पंड्या को धैर्यवान बना दिया है, जो इंडियन प्रीमियर लीग के मौजूदा सत्र में गुजरात टाइटन्स की सफलता का मुख्य कारण भी है। शमी ने पंड्या के साथ काफी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेला है, लेकिन आईपीएल में पहली बार खेल रही टीम का कप्तान बनने के बाद उनके बर्ताव में काफी बदलाव आया है।

शमी ने शुक्रवार को कहा, ''वह (हार्दिक) कप्तान बनने के बाद, काफी धैर्यवान हो गया है, उसकी प्रतिक्रिया में पहले की तरह आक्रामकता नहीं है। मैंने उसे सलाह दी है कि मैदान पर अपनी भावनाओं पर काबू रखें क्योंकि पूरी दुनिया इस क्रिकेट देखती है।''

उन्होंने कहा, ''एक कप्तान के रूप में समझदार होना, परिस्थितियों को समझना बहुत महत्वपूर्ण है और उसने इस भूमिका को पूरी तरह से निभाया है।''

टाइटन्स की टीम 12 मैचों में 18 अंकों के साथ  पहले ही प्ले-ऑफ में है और शमी हार्दिक की कप्तानी की खूब तारीफ कर रहे है। टीम के लिए 12 मैचों में 16 विकेट लेने वाले शमी ने कहा, ''उन्होंने टीम को एकजुट रखा है। मैंने एक खिलाड़ी की तुलना में एक कप्तान के रूप में उसमें बहुत सारे बदलाव देखे हैं।''

संबंधित खबरें

 

RCB vs PBKS: विराट कोहली ने हासिल की बड़ी उपलब्धि, IPL में 6500 रन पूरा करने वाले पहले बल्लेबाज बने

 

राष्ट्रीय टीम में महेंद्र सिंह धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा के अलावा आईपीएल की विभिन्न टीमों में कई कप्तानों के साथ खेलने के बाद, शमी जानते हैं कि हर कप्तान की अपनी एक अनूठी शैली होती है। 
उन्होंने कहा, ''हर कप्तान का स्वभाव अलग होता है। माही (धोनी) भाई शांत थे, विराट आक्रामक थे, रोहित मैच परिस्थितियों के अनुसार आगे बढ़ते हैं, इसलिए हार्दिक की मानसिकता को समझना कोई मुश्किल काम  नहीं है।''
 

epaper