फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटमोहम्मद शमी ने पाकिस्तानियों को सिखाया सबक, बोले- भाई, सुधर जाओ यार

मोहम्मद शमी ने पाकिस्तानियों को सिखाया सबक, बोले- भाई, सुधर जाओ यार

भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पाकिस्तानियों को सबक सिखाने का काम किया। उन्होंने कहा है कि वे बेस्ट वो है जो टाइम पर परफॉर्म करे। आप उसमें कॉन्ट्रोवर्सी बनाए चले जा रहे हो। 

मोहम्मद शमी ने पाकिस्तानियों को सिखाया सबक, बोले- भाई, सुधर जाओ यार
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 22 Nov 2023 06:12 AM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने वर्ल्ड कप 2023 में दमदार प्रदर्शन किया। शमी को शुरुआत में तो मौका नहीं मिला, लेकिन जब हार्दिक पांड्या चोटिल हो गए तो शमी को प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लिया गया। इसके बाद अमरोहा एक्सप्रेस के नाम से फेमस शमी ने रुकने का नाम नहीं लिया। पहले मैच में उन्होंने 5 विकेट निकाले, दूसरे मैच में 4 विकेट और फिर तीसरे मैच में फिर से 5 विकेट निकाले। ऐसे में पाकिस्तान के कुछ पूर्व क्रिकेटरों को मिर्ची लग गई और उन्होंने आरोप लगाया कि कोई दूसरी गेंद भारतीय गेंदबाजों को दी जा रही है। इस पर शमी ने बयान दिया है। 

मोहम्मद शमी का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें उन्होंने पाकिस्तानियों को सबक सिखाने का काम किया और कहा कि बेस्ट वही होता है जो टाइम पर परफॉर्म करे। उन्होंने कहा, "मैं तो किसी को ब्लेम नहीं कर रहा। मैं तो दुआ करता हूं कि और ऐसे दस लोग आएं टीम के लिए परफॉर्म करने के लिए। मुझे तो कभी जलन होती नहीं। अगर आप दूसरों की सक्सेस को एंजॉय करना सीख लोगे तो आप बहुत अच्छे प्लेयर बन जाओगे। मैं कुछ नहीं करता, जो है ऊपर वाला देने वाला है।" एंकर ने पूछा कि आप किस बारे में बात कर रहे हैं, उसके बारे में थोड़ी स्टोरी बताइए। 

ये भी पढ़ेंः जब टीम इंडिया अहमदाबाद में खेल रही थी वर्ल्ड कप फाइनल तो यहां थे पूर्व कप्तान एमएस धोनी, वीडियो आया सामने

इस पर शमी बोले, "वर्ल्ड कप चल रहा था तो मैं खेल नहीं रहा था, लेकिन जब मैं खेला तो पांच विकेट लिए, फिर चार विकेट लिए और फिर पांच विकेट लिए। कुछ पाकिस्तान के प्लेयर्स को हजम नहीं हो रही ये बात, मैं क्या करूं? उनके दिमाग में ये है कि हम बेस्ट हैं। भाई बेस्ट वो होता है जो टाइम पर परफॉर्म करे। मैं उसी को मानता हूं, जो हार्ड वर्क करे, जो परफॉर्म करे, जो टीम के लिए खड़ा रहे। अब आप उसमें कॉन्ट्रोवर्सी बनाए चले जा रहे हो, सुनाए चले जा रहे हो, तुम्हें बॉल कुछ और कलर की मिल रही है और कंपनी की मिल रही है। आईसीसी ने तुम्हें अलग से दे दिया बॉल। ऐ भाई, सुधर जाओ यार।"

शमी ने आगे बताया कि वही चीज वसीम (अकरम) भाई ने एक इंटरव्यू में क्लियर की कि कैसे दो नई गेंद टीम को दिखाई जाती हैं और उसे ही मैच के लिए यूज किया जाता है। पहले दो गेंद पूरे बॉक्स में से फील्डिंग करने वाली टीम को दी जाती हैं और उसी में से दो गेंद दूसरी वाली टीम को दी जाती हैं। उसके बाद भी वे बयान दे रहे हैं। तब भी समझ में आता है कि जब आप प्लेयर नहीं हैं तो आपको नहीं पता कि चीजें कैसे काम करती हैं, लेकिन जब आप खेले हैं तो आपको ऐसे बयान नहीं देने चाहिए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें