DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ क्रिकेटराष्ट्रगान के दौरान रो पड़े खिलाड़ी, तालिबानी हुकूमत के बावजूद अफगानिस्तान झंडे के साथ खेलने उतरी टीम

राष्ट्रगान के दौरान रो पड़े खिलाड़ी, तालिबानी हुकूमत के बावजूद अफगानिस्तान झंडे के साथ खेलने उतरी टीम

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्ली Ezaz Ahmad
Mon, 25 Oct 2021 11:15 PM
राष्ट्रगान के दौरान रो पड़े खिलाड़ी, तालिबानी हुकूमत के बावजूद अफगानिस्तान झंडे के साथ खेलने उतरी टीम

अफगानिस्तान क्रिकेट टीम ने नजीबुल्लाह जादरान के अर्धशतक के बाद मुजीब उर रहमान (20 रन पर 5 विकेट) की घातक गेंदबाजी की बदौलत आईसीसी टी-20 विश्व कप 2021 के सुपर 12 के ग्रुप-2 मैच में सोमवार को स्कॉटलैंड को 130 रनों से हराकर टूर्नामेंट में धमाकेदार अंदाज में अपने अभियान की शुरुआत की। अफगानिस्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 190 रन का विशाल स्कोर बनाया और फिर स्कॉटलैंड को 10.2 ओवर में 60 रनों पर ढेर कर दिया। अफगानिस्तान के लिए यह मैच भावनात्मक रूप से काफी अहम था क्योंकि देश में तालिबानी हुकूमत के बाद टीम पहली बार कोई टूर्नामेंट खेल रही थी। अफगानिस्तान में तालिबान का शासन कायम होने के बावजूद अफगानिस्तान की टीम ने तालिबान के आगे झुकने से इनकार कर दिया और टीम अफगानिस्तान के झंडे के साथ मैच खेलने के लिए मैदान पर उतरी।

मैच शुरू होने से पहले टीम ने अफगानिस्तान का राष्ट्रीय गान गाया और अपने देश का झंडा भी फहराया। अफगान की जनता के लिए यह काफी भावुक पल था क्योंकि अफगानिस्तान में इस समय आतंकवादी संगठन तालिबान का कब्जा है। अफगानिस्तान क्रिकेट टीम का वीडियो ट्विटर शेयर किया गया। इस वीडियो में कैप्शन में लिखा था, 'अफगानों के लिए एक भावनात्मक पल है। मंत्रमुग्ध कर देने वाले राष्ट्रगान के साथ वैश्विक मंच पर अफगानिस्तान के खूबसूरत झंडे को देखकर बहुत अच्छा लगा। सभी की आंखों में आंसू थे। अफगानिस्तान बनाम स्कॉटलैंड। टी20 विश्व कप मैच।

अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह साहेल ने भी ट्वीट को रीट्वीट किया है जो लगातार तालिबान और पाकिस्तान पर निशाना साध रहे हैं। सालेह ने ट्वीट में लिखा, 'मैं हमारे क्रिकेट नायकों के साहस और हमारे राष्ट्रीय मूल्यों के प्रति उनके समर्पण को सलाम करता हूं। उन्होंने राष्ट्रगान गान गाया और पाकिस्तान समर्थित तालिबान आतंकवादी अत्याचार के खिलाफ अपना राष्ट्रीय ध्वज फहराया। तालिबान शासन की अपनी कोई आवाज नहीं है और उसके पास एक ऐसा प्रधानमंत्री है जिसकी न कोई सीवी है और न कोई आवाज।'

राष्ट्रगान के दौरान रो पड़े खिलाड़ी, तालिबानी हुकूमत के बावजूद अफगानिस्तान झंडे के साथ खेलने उतरी टीम
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें