फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटमाही भाई भी मदद नहीं कर सकते, हार्दिक पांड्या को क्यों सताने लगी एमएस धोनी की याद 

माही भाई भी मदद नहीं कर सकते, हार्दिक पांड्या को क्यों सताने लगी एमएस धोनी की याद 

Hardik Pandya MS Dhoni: मुंबई इंडियंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने महेंद्र सिंह धोनी का खासतौर पर जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि हम गलतियां करके बहुत कुछ सीखते हैं। इसे कोई और नहीं सिखा सकता।

माही भाई भी मदद नहीं कर सकते, हार्दिक पांड्या को क्यों सताने लगी एमएस धोनी की याद 
Deepakलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 06 May 2024 04:38 PM
ऐप पर पढ़ें

Hardik Pandya MS Dhoni: मुंबई इंडियंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने महेंद्र सिंह धोनी का खासतौर पर जिक्र किया है। उन्होंने कहा कि हम गलतियां करके बहुत कुछ सीखते हैं। इससे होने वाले अनुभव से जो हम सीखते हैं, वह हमें कोई नहीं सिखा सकता। यहां तक कि माही भाई भी नहीं। मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद मैच से पहले हार्दिक ने यह बात कही। गुजरात टाइटंस को एक के बाद फाइनल में पहुंचाने वाले हार्दिक मुंबई इडियंस में बतौर कप्तान लौटे हैं। हालांकि अभी तक का एमआई का सफर कुछ खास नहीं रहा है। मुंबई की टीम प्लेऑफ की दौड़ से बाहर होकर अब आत्मसम्मान की लड़ाई लड़ रही है। इस बीच हार्दिक के ऊपर टी20 वर्ल्डकप में उपकप्तानी की जिम्मेदारी भी आ गई है।

गलतियों से सीखना चाहता हूं
हार्दिक ने कहा कि गलतियों से सीखना एक अलग तरह का अनुभव है। यहां पर आप जो कुछ सीखते हैं, वैसा तो आपका कोई करीबी भी नहीं सिखा सकता है। आपके आदर्श भी इस बारे में आपको कुछ नहीं बता सकते। स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत के दौरान हार्दिक ने इसी को लेकर धोनी का खासतौर पर जिक्र किया। पांड्या ने कहा कि कुछ हद तक माही भाई भी इस मामले में आपकी कोई मदद नहीं सकते। हार्दिक पांड्या ने कहा कि मैं हमेशा से वह शख्स रहा हूं, जो जिम्मेदारी उठाना चाहता है। मेरा मानना है कि जब आप जिम्मेदारी लेते हैं तो आप वह चीज आपकी हो जाती है। गलतियों के साथ भी मेरे लिए कुछ ऐसा ही है। मैं हमेशा गलतियों से सीखना चाहता हूं। 

निशाने पर हैं हार्दिक
इस सीजन में मुंबई इंडियंस के प्रदर्शन की बात करें तो उसका प्रदर्शन बेहद फीका रहा है। पांच बार की चैंपियन टीम 11 में से सिर्फ तीन ही मैच जीत पाई है। हार्दिक की कप्तानी के साथ-साथ उनका खेल भी उस स्तर का नहीं रहा है। बल्लेबाजी में उन्होंने 11 मैचों में मात्र 198 रन बनाए हैं। वहीं, गेंदबाजी में आठ विकेट लिए हैं। इसके लिए हार्दिक की काफी आलोचना भी हो रही है। हार्दिक की खराब फॉर्म के बावजूद उन्हें टी20 वर्ल्डकप में भारतीय टीम का उपकप्तान बनाया गया है। इस बात से भी बहस शुरू हो गई है। इरफान पठान समेत तमाम पूर्व क्रिकेटरों ने हार्दिक को भारतीय टीम का उपकप्तान बनाने के फैसले का विरोध किया है।