फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटटीम इंडिया में वापसी को लेकर ओपनर मयंक अग्रवाल ने कहा- मैं हारने मानने वाला नहीं हूं

टीम इंडिया में वापसी को लेकर ओपनर मयंक अग्रवाल ने कहा- मैं हारने मानने वाला नहीं हूं

टीम इंडिया में वापसी को लेकर ओपनर मयंक अग्रवाल ने कहा है कि वे ऐसे शख्स हैं, जो हार मानने वाले नहीं हैं। वे अपने खेल की हर एक दिशा में काम कर रहे हैं और टीम में वापसी की उम्मीद रखते हैं।  

टीम इंडिया में वापसी को लेकर ओपनर मयंक अग्रवाल ने कहा- मैं हारने मानने वाला नहीं हूं
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 24 Aug 2022 05:30 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मयंक अग्रवाल का इंटरनेशनल करियर इस समय खतरे में नजर आ रहा है। टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने पर उनको लगातार मौके मिले। यहां तक कि वनडे टीम में भी उनको जगह मिली, लेकिन कुछ टेस्ट मैचों में खराब प्रदर्शन के कारण उनको प्लेइंग इलेवन से ड्रॉप कर दिया गया और फिर टीम से भी छुट्टी हो गई। इसके बाद उनका आईपीएल 2022 का प्रदर्शन भी निराशाजनक रहा, जिससे उनका टीम में आना मुश्किल हो गया। हालांकि, 31 वर्षीय मयंक का मानना है कि वे नेशनल टीम में वापसी कर सकते हैं। 

क्रिकइंफो से बात करते हुए अपनी इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी को लेकर उन्होंने कहा, "मैं कोई ऐसा व्यक्ति हूं जो हार मानने वाला नहीं है। मैं इसका पीछा करता रहूंगा और हर गुजरते दिन के साथ अपने खेल में सुधार करूंगा। मेरे रास्ते में जो कुछ भी आएगा मैं उससे बहुत खुश रहूंगा, लेकिन आकांक्षाएं और सपने कभी नहीं मरते। यह बस मैदान पर जाने, उन कुछ चीजों को सुधारने और बॉक्स टिक करने के बारे में है।"

आईपीएल 2022 में 12 पारियों में 196 रन बनाने वाले बल्लेबाज ने कर्नाटक के लोकल टी20 टूर्नामेंट में महाराजा ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया। 11 पारियों में उन्होंने दो शतकों के साथ 167.24 के स्ट्राइकरेट से 480 रन बनाए। मयंक अग्रवाल ने सीमित ओवरों की क्रिकेट में अपने प्रदर्शन को लेकर कहा, "पिछले चार महीनों में, मैंने अपनी बल्लेबाजी पर काफी मेहनत की है। जैसा कि आप देख सकते हैं, मैंने गेंद को स्वीप करना और रिवर्स स्वीप करना शुरू कर दिया है, वह भी तेज गेंदबाजों के खिलाफ।" 

साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच के लिए इंग्लैंड की प्लेइंग इलेवन का ऐलान, ये खिलाड़ी हुआ बाहर

उन्होंने आगे कहा, "मैंने अपने खेल में चार-पांच क्षेत्र खोले हैं, जो भरपूर लाभदे रहे हैं। मुझे बहुत खुशी है कि मैंने जो मेहनत की है वह अब रंग ला रही है। महाराजा ट्रॉफी जैसे टी20 टूर्नामेंट में दो शतक लगाना अद्भुत है। यह वास्तव में अच्छा लगता है जब खिलाड़ी आपको जिस तरह से चाहते हैं, उसका जवाब देते हैं। जाहिर तौर पर मैंने रन बनाए हैं तो मुझे अच्छा महसूस हो रहा है और फिर मैं आगे से नेतृत्व कर सकता हूं।" 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें