फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटमैथ्यू वेड को टी20 वर्ल्ड कप में ये गलती पड़ गई भारी, ICC ने लिया आड़े हाथ; AUS vs ENG मैच का है मामला

मैथ्यू वेड को टी20 वर्ल्ड कप में ये गलती पड़ गई भारी, ICC ने लिया आड़े हाथ; AUS vs ENG मैच का है मामला

Matthew Wade Reprimanded By ICC: ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मैथ्यू वेड टी20 वर्ल्ड कप 2024 में एक गलती भारी पड़ गई। आईसीसी ने ना सिर्फ वेड को फटकार लगाई बल्कि उनके खाते में डिमेरिट अंक भी जोड़ा।

मैथ्यू वेड को टी20 वर्ल्ड कप में ये गलती पड़ गई भारी, ICC ने लिया आड़े हाथ; AUS vs ENG मैच का है मामला
matthew wade
Md.akram एजेंसी,ब्रिजटाउन (बारबाडोस)Mon, 10 Jun 2024 08:01 PM
ऐप पर पढ़ें

ऑस्ट्रेलियाई विकेटकीपर बल्लेबाज मैथ्यू वेड को पिछले हफ्ते टी20 वर्ल्ड कप 2024 में इंग्लैंड पर उनकी टीम की जीत के दौरान अंपायर के फैसले पर असहमति जताने के लिए आईसीसी द्वारा फटकार लगाई गई है। इसके साथ ही वेड के अनुशासनात्मक रिकॉर्ड में एक 'डिमेरिट' अंक भी जोड़ दिया गया है। यह उनका 24 महीने में पहला उल्लघंन था।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने सोमवार को मीडिया विज्ञप्ति में कहा, ''आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी मैथ्यू वेड को शनिवार को बारबाडोस में केनसिंगटन ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ आईसीसी पुरुष टी20 वर्ल्ड कप 2024 के ग्रुप बी मैच के दौरान आईसीसी की आचार संहिता के लेवल एक के उल्लघंन के लिए आधिकारिक फटकार लगाई गई है।''

यह घटना आस्ट्रेलियाई पारी के 18वें ओवर में घटी जब वेड ने लेग स्पिनर आदिल राशिद की गेंद खेली लेकिन वह उम्मीद कर रहे थे कि अंपायर इसे 'डेड बॉल' करार देंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ जिसके बाद वेड ने अंपायरों से बहस करना शुरू कर दिया। वेड ने आईसीसी की खिलाड़ियों और खिलाड़ी सहयोगी स्टाफ आचार संहिता के अनुच्छेद 2.8 का उल्लघंन किया जो अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अंपायर के फैसलों पर नाराजगी दिखाने से संबंधित है।

वेड ने यह उल्लघंन स्वीकार कर दिया है और आईसीसी मैच रैफरियों के एलीट पैनल के एंडी पाइक्रोफ्ट द्वारा प्रस्तावित सजा स्वीकार कर ली इसलिए आधिकारिक सुनवाई की जरूरत नहीं पड़ी। मैदानी अंपायर नितिन मेनन और जोएल विल्सन, तीसरे अंपायर आसिफ याकूब और चौथे अंपायर जयरमन मदनगोपाल ने वेड पर ये आरोप लगाये। लेवल एक में न्यूनतम सजा आाधिकारिक फटकार और अधिकतम सजा खिलाड़ी की मैच फीस का 50 प्रतिशत हिस्सा तथा एक या दो डिमैरिट अंक होते हैं।