Mark Boucher says aggression should not be removed from cricket - मार्क बाउचर बोले, आक्रामकता को क्रिकेट से नहीं हटाना चाहिए DA Image
20 फरवरी, 2020|7:58|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मार्क बाउचर बोले, आक्रामकता को क्रिकेट से नहीं हटाना चाहिए

former south africa cricketer mark boucher  getty images

दक्षिण अफ्रीका के पूर्व विकेटकीपर बल्लेबाज मार्क बाउचर का मानना है कि मैदान पर जब दो टीमें एक-दूसरे के खिलाफ कड़े मुकाबले खेल रही होती हैं तो कभी-कभी भावनाएं ज्यादा हो जाती हैं। बाउचर का कहना है कि आक्रामकता को क्रिकेट से बाहर नहीं करना चाहिए। क्रिकइंफो ने बाउचर के हवाले से लिखा, “आप क्रिकेट से सभी आक्रामकताओं को नहीं हटा सकते। आपके पास दो ऐसी टीमें हैं, जो मैदान पर कड़ी क्रिकेट खेल रही है और कभी कभार भावनाएं कुछ ज्यादा हो जाती है। इसलिए इस तरह के नियम थोड़े निराशाजनक हैं लेकिन अगर आपको नियम पता हैं तो आपको उन्हें मानना चाहिए।” 

मौजूदा समय में दक्षिण अफ्रीकी टीम की जिम्मेदारी संभाल रहे बाउचर का यह तेज गेंदबाज कगिसो रबादा पर एक डिमेरिट अंक लगाने के बाद आया है। आईसीसी ने गुरुवार को इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट के पहले दिन रबादा के खाते में एक डिमेरिट अंक जोड़ दिया था। रबादा विपक्षी टीम के बल्लेबाज को आउट करने के बाद आक्रामक अंदाज में जश्न मना रहे थे।

INDvAUS 3rd ODI: सीरीज के निर्णायक मैच में कुछ ऐसी हो सकती है भारत की प्लेइंग XI

बाउचर ने कहा, “मुझे लगता है कि वह आक्रामक होकर ही अपनी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी कर पाता है इसलिए आक्रामकता और नियम तोड़ने के बीच सही संतुलन ढूंढ पाने की कोशिश है लेकिन साथ ही साथ कोशिश नियमों को समझने और उसे सही लाइन पर रखने की भी है।”कोच ने कहा, “केजी को पता है वो क्या कर सकता है और क्या नहीं और शायद वो रेखा से थोड़ा आगे निकल गया।”

राहुल को विकेटकीपर के रूप में नहीं देखना चाहते भारत के कई दिग्गज 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mark Boucher says aggression should not be removed from cricket