फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटमनोज तिवारी ने किया रिटायरमेंट का ऐलान, क्रिकेट के हर फॉर्मेट से ली विदाई

मनोज तिवारी ने किया रिटायरमेंट का ऐलान, क्रिकेट के हर फॉर्मेट से ली विदाई

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज मनोज तिवारी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है। उन्होंने क्रिकेट के हर फॉर्मेट से विदाई ले ली है। उन्होंने अपने ट्विटर पर अपनी टीम इंडिया की फोटो शेयर करते हुए थैंक यू लिखा

मनोज तिवारी ने किया रिटायरमेंट का ऐलान, क्रिकेट के हर फॉर्मेट से ली विदाई
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 03 Aug 2023 01:01 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज मनोज तिवारी ने रिटायरमेंट का ऐलान कर दिया है। उन्होंने क्रिकेट के हर फॉर्मेट से विदाई लेने की घोषणा कर दी है। भारत के लिए 15 इंटरनेशनल मैच खेल चुके मनोज तिवारी ने अपने ट्विटर पर अपनी टीम इंडिया की फोटो शेयर की है, जिसमें वह अपने हेलमेट को चूमते हुए नजर आ रहे हैं और इसके कैप्शन में उन्होंने थैंक यू लिखा है। इसके अलावा इंस्टाग्राम पर स्टेटमेंट भी जारी किया है। 

मनोज तिवारी ने अपने विदाई संदेश में लिखा, "क्रिकेट के खेल को अलविदा। इस खेल ने मुझे सब कुछ दिया है, मेरा मतलब है कि हर एक चीज जिसके बारे में मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था, उस समय से लेकर जब मेरे जीवन को विभिन्न प्रकार की कठिनाइयों से चुनौती मिली थी। मैं इस खेल और भगवान का हमेशा आभारी रहूंगा, जो हमेशा मेरे पक्ष में रहे। इस अवसर पर मैं उन लोगों के प्रति अपनी हार्दिक कृतज्ञता व्यक्त करता हूं, जिन्होंने मेरी क्रिकेट यात्रा में भूमिका निभाई है।" 

उन्होंने आगे अपने परिवार, दोस्त और कोचों को धन्यवाद दिया और लिखा, "मेरे बचपन से लेकर पिछले साल तक मेरे सभी कोचों को धन्यवाद, जिन्होंने मेरी क्रिकेट उपलब्धियों में भूमिका निभाई है। मेरे पिता तुल्य कोच मानवेंद्र घोष क्रिकेट यात्रा में स्तंभ रहे हैं। अगर वह नहीं होते तो मैं क्रिकेट जगत में कहीं नहीं पहुंच पाता। धन्यवाद सर और आपके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं, क्योंकि आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा है। मेरे पिताजी और माँ को धन्यवाद, उन्होंने कभी मुझ पर पढ़ाई पर ध्यान केंद्रित करने का दबाव नहीं डाला, बल्कि उन्होंने मुझे क्रिकेट में बने रहने के लिए प्रोत्साहित किया।"

वे आगे लिखते हैं, "मेरी पत्नी सुष्मिता रॉय को बहुत-बहुत धन्यवाद, जो मेरे जीवन में आने के बाद से हमेशा मेरे साथ रही हैं। उनके निरंतर समर्थन के बिना, मैं जीवन में उस मुकाम तक नहीं पहुंच पाता जहां मैं आज हूं। और मेरे सभी साथियों, पूर्व और वर्तमान और बंगाल क्रिकेट एसोसिएशन और एसोसिएशन के सभी सदस्यों को, जिन्होंने मेरी यात्रा में भूमिका निभाई है। और मैं उन क्रिकेट प्रशंसकों का जिक्र कैसे नहीं करूं, जिन्होंने मेरे उतार-चढ़ाव के दौरान मेरी अच्छे समय की कामना की और मुझे आज की दुनिया में एक क्रिकेट हस्ती बनाया। मेरे दिल की गहराइयों से बहुत-बहुत धन्यवाद। इतना ही। यदि मुझसे कोई छूट गया हो जिसका उल्लेख मैं यहाँ करने से चूक गया हूं तो कृपया मेरी क्षमायाचना स्वीकार करें। जीवन के उद्देश्य की तलाश में। धन्यवाद क्रिकेट।"

मनोज तिवारी ने 2008 में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया था, लेकिन 2015 तक सिर्फ 12 वनडे इंटरनेशनल मैच ही खेल सके। वहीं, 2011 में टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू करने वाले मनोज तिवारी को 2012 तक 3 ही टी20 मैच इंटरनेशनल मैचों में मौका मिला। वनडे क्रिकेट में उन्होंने 287 रन और टी20 क्रिकेट में सिर्फ 15 रन बनाए हैं। वनडे क्रिकेट में एक शतक और एक अर्धशतक भी उन्होंने जड़ा है, जबकि घरेलू क्रिकेट वे पिछले साल तक खेले हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें