फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News क्रिकेटमाही भाई आपके लिए तो कुछ भी... रविंद्र जडेजा ने धोनी से विवाद की सारी अटकलों पर लगाया फुलस्टॉप

माही भाई आपके लिए तो कुछ भी... रविंद्र जडेजा ने धोनी से विवाद की सारी अटकलों पर लगाया फुलस्टॉप

रविंद्र जडेजा ने एमएस धोनी के साथ विवाद की सभी अटकलों पर फुलस्टॉप लगा दिया है। सीएसके के पांचवां आईपीएल खिताब जीतने के बाद जडेजा ने धोनी के साथ फोटो शेयर कर दिल जीतने वाला कैप्शन लिखा।

माही भाई आपके लिए तो कुछ भी... रविंद्र जडेजा ने धोनी से विवाद की सारी अटकलों पर लगाया फुलस्टॉप
Namita Shuklaलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीTue, 30 May 2023 10:48 AM
ऐप पर पढ़ें

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 में चेन्नई सुपरकिंग्स (सीएसके) के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रविंद्र जडेजा को कप्तानी सौंपी, लेकिन लगातार हार के बाद जडेजा ने यह जिम्मेदारी वापस धोनी को सौंप दी। इसके बाद सीएसके और जडेजा के बीच मनमुटाव की खबरें आईं। बातें यहां तक होने लगीं कि जडेजा इस फ्रेंचाइजी का साथ छोड़ देंगे। इस सीजन में भी जडेजा और धोनी के बीच विवाद की खबरें सामने आई थीं, लेकिन आईपीएल 2023 ट्रॉफी के साथ धोनी और अपनी फोटो शेयर करते हुए जडेजा ने कैप्शन में जो लिखा, उससे इन दोनों के बीच किसी भी विवाद की खबर पर फुलस्टॉप लग जाएगा। सीएसके को गुजरात टाइटन्स के खिलाफ आखिरी दो गेंदों पर 10 रन चाहिए थे और स्ट्राइक पर थे रविंद्र जडेजा। जड्डू ने पहले छक्का लगाया और फिर चौका लगाकर सीएसके के खिताबों का पंजा पूरा कर दिया। सीएसके का यह पांचवां आईपीएल खिताब था। धोनी ने इसके बाद जडेजा को गोद में उठा लिया था।

धोनी ट्रॉफी लेने जब स्टेज पर गए, तो अपने साथ अंबाती रायुडू और जडेजा को भी ले गए। इतना ही नहीं उन्होंने ट्रॉफी जडेजा को अंबाती को ही उठाने के लिए कहा। जडेजा ने भी मैच के बाद कहा था कि यह खिताब उनकी टीम के खास सदस्य एमएस धोनी के लिए है। रविंद्र जडेजा ने सोशल मीडिया पर तीन तस्वीरें शेयर कर कैप्शन में लिखा, 'हमने यह कर दिखाया सिर्फ और सिर्फ एमएस धोनी के लिए। माही भाई आपके लिए तो कुछ भी...'

रविंद्र जडेजा ने इस मैच में नॉटआउट 6 गेंदों पर 15 रनों की पारी खेली। गुजरात टाइटन्स ने 20 ओवर में चार विकेट पर 214 रन बनाए थे। बारिश के चलते सीएसके को 15 ओवर में 171 रनों का टारगेट मिला था। आखिरी ओवर में 13 रनों की जरूरत थी और पहली चार गेंदों पर महज तीन रन आए थे।