know about these 5 reasons why Sourav Ganguly is a great leader - ये 5 कारण बताते हैं, क्यों सौरव गांगुली हैं एक महान लीडर DA Image
19 नबम्बर, 2019|8:31|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ये 5 कारण बताते हैं, क्यों सौरव गांगुली हैं एक महान लीडर

सौरव गांगुली के रिकॉर्ड बताते हैं कि वह कितने शानदार बल्लेबाज और कप्तान रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान रहते हुए गांगुली की लीडरशिप की पूरी दुनिया में तारीफ हुई है।

sourav ganguly  reuters

अपने करियर में पूर्व भारतीय सौरव गांगुली ने अनेक यादगार जीत दर्ज की हैं। उन्होंने भारतीय क्रिकेट की शक्ल बदलने में अहम भूमिका निभाई। अब वह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष बन गए हैं। बुधवार (23 अक्टूबर) को गांगुली ने बीसीसीआई अध्यक्ष के रूप में पदभार संभाल लिया है। सौरव गांगुली ने अपनी कप्तानी में साबित किया है कि उनके अंदर बेहतरीन लीडरशिप क्वॉलिटी है। वह हमेशा अपने खिलाड़ियों और सही के साथ खड़े रहे हैं। इसके साथ ही उन्होंने भारत को धौनी, युवराज, सहवाग जैसे कई हीरे दिए हैं। 

सौरव गांगुली के रिकॉर्ड बताते हैं कि वह कितने शानदार बल्लेबाज और कप्तान रहे हैं। भारतीय क्रिकेट टीम का कप्तान रहते हुए गांगुली की लीडरशिप की पूरी दुनिया में तारीफ हुई है। आइए नजर डालते हैं ऐसी 5 बातों पर जो 'दादा' को बेहतरीन लीडर साबित करती हैं।

सौरव गांगुली ने बताया, उन्हें कब पता चला कि BCCI अध्यक्ष बनने जा रहे हैं

खिलाड़ियों के लिए लड़ेः 
अच्छा लीडर या कप्तान वह होता हो, जो अपने खिलाड़ियों या टीम के लिए लड़ सके। एक योद्धा की तरह सौरव अपने खिलाड़ियों के साथ हमेशा दिखाई दिए। परिणाम यह हुआ कि खिलाड़ियों ने उनके भरोसे को कायम रखा। गांगुली के कप्तानी के स्टाइल ने उनका खूब सम्मान बढ़ाया। खिलाड़ियों को समर्थन करके उन्होंने टीम को आत्मविश्वास से भरी टीम में बदला। 

मैच फिक्सिंग कांड के बाद टीम को एकजुट कियाः 
भारतीय क्रिकेट टीम 2000 में मैच फिक्सिंग कांड के बाद निचले स्तर पर थी। फैन्स ने उन पर भरोसा करना छोड़ दिया था। दर्शक हर खिलाड़ी की परफॉर्मेंस को गौर से देख रहे थे। इसके बाद सौरव गंगुली ने टीम को एकुजट करने की यात्रा शुरू की। अगले कुछ वर्षों में उनकी कप्तानी में टीम ने अनेक सफलताएं अर्जित कीं और लोगों का दिल जीता। लोगों का भरोसा टीम पर दोबारा कायम हुआ। 

भविष्य के खिलाड़ी तैयार किएः 
सौरव गंगुली के नेतृत्व में कम से कम सात नायाब खिलाड़ी तैयार हुए। युवराज सिंह, जहीर खान, महेंद्र सिंह धौनी, वीरेंद्र सहवाग और हरभजन सिंह उनमें से प्रमुख हैं। इन सबने सौरव के नेतृत्व में करियर की शुरुआत की। यहां तक की अजित आगरकर और आशीष नेहरा ने भी गांगुली के नेतृत्व में कई मैच भारत को जितवाए। सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धौनी भी कहते हैं कि सिर्फ और सिर्फ दादा ने उन्हें तैयार किया है।  

सौरव गांगुली BCCI के अध्यक्ष बनकर बनाएंगे ये स्पेशल रिकॉर्ड

क्रिकेट के आक्रामक ब्रांड बनेः 
'दादा' ने टॉप पर पहुंचने के लिए सुपर एग्रेसिव रुख अपनाया। क्रिकेट में हर सफल खिलाड़ी ने यही किया है। सभी महान कप्तान आक्रामक रहे। कोलकाता के बाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने अपनी कप्तानी में अनेक मैच आक्रामकता के चलते जितवाए और उनका जश्न भी आक्रामक अंदाज में मनाया। 2002 में लॉर्ड्स के मैदान पर टीम इंडिया ने अपनी सबसे यादगार जीतों में से एक दर्ज की थी। यह जीत भारत के सौरव गांगुली की कप्तानी में ही हासिल की थी। सौरव गांगुली की कप्तानी में टीम इंडिया ने 326 रन के लक्ष्य का सफलतापूर्वक पीछा करते हुए खिताब जीत लिया था।

विदेशों में जीतना सिखायाः 
भारतीय कप्तान के लिए विदेशों में जीतना हमेशा से मुश्किल था, लेकिन 'प्रिंस ऑफ कोलकाता' ने यह करके दिखाया। सौरव गांगुली की कप्तानी में ही भारतीय टीम से 'घर के शेर' का टैग हटा। जब भी उनका नाम कप्तान के रूप में आया टीम ने विदेशों में एक अलग ताकत के रूप में प्रदर्शन किया। उन्हें सबसे सफल भारतीय कप्तान माना जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:know about these 5 reasons why Sourav Ganguly is a great leader