DA Image
3 जुलाई, 2020|12:46|IST

अगली स्टोरी

नस्लवाद पर केएल राहुल ने लिखा इमोशनल पोस्ट, कहा- खेलों पर रंगों का शासन नहीं चलता

केएल राहुल ने नस्लवाद को लेकर कुछ लाइनें लिखी हैं। राहुल ने लिखा, ''खेलों पर रंगों का नहीं बल्कि कौशल का शासन है, यही जीवन में भी है।''

kl rahul  instagram

अफ्रीकी मूल के अमेरिकी जॉर्ज फ्लॉयड की मौत के बाद से पूरी दुनिया में इसका विरोध हो रहा है। पूरे अमेरिका और दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में इस भेदभाव और पुलिस की क्रूरता के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। बहुत-सी खेल शख्सियतों ने भी सोशल मीडिया पर नस्लवाद के खिलाफ आवाज उठाई है और ''ब्लैक लाइव्स मैटर' अभियान में शामिल हुए हैं। इस कड़ी में अब भारतीय स्टार बल्लेबाज केएल राहुल का नाम भी शामिल हो गया है। केएल राहुल ने नस्लवाद और भेदभाव को लेकर एक इमोशनल पोस्ट शेयर की है और बताया है कि खेलों में रंगों का नहीं, बल्कि हुनर चलता है। 

दरअसल,  एक श्वेत पुलिस अधिकारी ने जॉर्ज फ्लॉयड की गर्दन अपने घुटने से दबा दी थी,  जिससे उसकी मौत हो गई थी। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में फ्लायड को यह कहते सुना जा सकता है कि प्लीज मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं। वह लगातार यही बात कह रहा है, लेकिन पुलिस ने उसकी गर्दन से घुटना तब तक नहीं हटाया, जबतक उसका दम नहीं घुट गया। इसके चलते पूरे अमेरिका में अशांति की स्थिति है और लॉकडाउन के बावजूद लोगों इसके विरोध में सड़कों पर निकल रहे हैं।  

क्रेजी लाइटनिंग के साथ धोनी ने करवाई जीवा को बाइक पर सैर- VIDEO

इस घटना के बाद से बहुत से फुटबॉलर ने अपने जीवन में नस्लवाद के विषय में बात की है। इसके बाद क्रिकेटर्स भी इसमें आगे आए हैं। वेस्टइंडीज के क्रिस गेल और डैरेन सैमी के बाद केएल राहुल सोशल मीडिया पर कहा कि खेलों या जीवन में भेदभाव की कोई जगह नहीं है। केएल राहुल ने अपने ऑफिशियल इंस्टग्राम हैंडल से एक पोस्ट शेयर की। इस पोस्ट में नस्लवाद को लेकर कुछ लाइनें लिखी हुई हैं। राहुल ने लिखा, ''खेलों पर रंगों का नहीं बल्कि कौशल का शासन है, यही जीवन में भी है।''

उन्होंने लिखा है, ''हम खेलों को इसलिए प्यार करते हैं क्योंकि इसमें किसी तरह का भेदभाव नहीं है। यह अपने आप को टेस्ट करने का अवसर होता है-शारीरिक और मानसिक टेस्ट करने का। खेल विविध संस्कृतियों, जातियों और मजहबों को एक करने का अवसर हैं।''

पूर्व पाक क्रिकेटर का भरोसा, विराट कोहली को अपना शिकार बनाएंगे नसीम शाह

राहुल ने आगे लिखा, ''जब हम 22 यार्ड में होते हैं तो हम हर तरह के भेदभाव से दूर होते हैं। वहां हमें एकता, प्रेम दिखाई पड़ते हैं। आप बेशक अश्वेत हों, ब्राउन, श्वेत या ब्ल्यू क्यों न हों, आप चाहें तेज गेंदबाज हों या स्पिनर, हम सबको एक ही नजर से देखते हैं।''

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Some matters are bigger than the game. But the game can play its part. Change is necessary.🙏 . #weareone

A post shared by KL Rahul👑 (@rahulkl) on

बता दें कि वेस्टइंडीज के विश्व कप विजेता पूर्व कप्तान डेरेन सैमी ने मंगलवार को आईसीसी से आग्रह किया कि क्रिकेट जगत या तो नस्लवाद के खिलाफ आवाज उठाए या इस समस्या का हिस्सा कहलाने के लिए तैयार रहे। सैमी ने सोशल मीडिया पर सिलसिलेवार पोस्ट में अश्वेतों की समस्याओं के बारे में लिखा। उन्होंने ट्वीट किया, ''ताजा वीडियो देखने के बाद इस समय अगर क्रिकेट जगत अश्वेतों पर हो रही नाइंसाफी के खिलाफ खड़ा नहीं होगा तो उसे भी इस समस्या का हिस्सा माना जाएगा।''

वहीं, क्रिस गेल ने लिखा,  “अश्वेत लोगों की जिंदगी भी दूसरों की जिंदगी की तरह मयाने रखती है। अश्वेत लोग मायने रखते हैं (ब्लैक लाइव्स मैटर)। नस्लभेदी लोग भाड़ में जाएं। मैंने पूरा विश्व घूमा है और नस्लभेदी बातें सुनी हैं क्योंकि मैं अश्वेत हूं। विश्वास मानिए...यह फेहरिस्त बढ़ती चली जाएगी।” उन्होंने कहा, “नस्लभेद सिर्फ फुटबॉल में नहीं,  यह क्रिकेट में भी है। यहां तक कि टीमों के अंदर भी एक अश्वेत होने के तौर पर मुझे अहसास हुआ है।”

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:KL Rahul shares emotional post on racism row says Sports are not governed by colour but skill and life should be no different