फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेट'अगर वह फिट है, उसे टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहिए', कपिल देव ने हार्दिक पांड्या के टेस्ट करियर को लेकर दिया बयान

'अगर वह फिट है, उसे टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहिए', कपिल देव ने हार्दिक पांड्या के टेस्ट करियर को लेकर दिया बयान

भारत के पूर्व कप्तान कपिल देव का मानना है कि अगर हार्दिक पांड्या फिट हैं, तो उन्हें टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहिए। भारतीय टीम के ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या ने 5 साल पहले टेस्ट मैच खेला था।

'अगर वह फिट है, उसे टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहिए', कपिल देव ने हार्दिक पांड्या के टेस्ट करियर को लेकर दिया बयान
Himanshu Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 16 Aug 2023 12:08 PM
ऐप पर पढ़ें

भारतीय टीम के दिग्गज कपिल देव ने कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि हार्दिक पांड्या भविष्य में ज्यादा टेस्ट मैच खेलते हुए नजर आएंगे। कपिल के मुताबिक हार्दिक पांड्या टीम के लिए रेड बॉल क्रिकेट में फायदेमंद साबित हो सकते हैं लेकिन वो ऐसा होते हुए नहीं देख रहे हैं। हार्दिक पांड्या ने भारत के लिए 2017 में टेस्ट डेब्यू किया था और सिर्फ एक साल तक भारत के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला, उसके बाद चोट के कारण उन्होंने सिर्फ व्हाइट बॉल क्रिकेट पर फोकस लगाया। 

कपिल देव ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में कहा, ''ऐसा नहीं लग रहा है कि वो करेगा। मैंने आज बिलबोर्ड पर उनकी तस्वीर देखी। मुझे नहीं पता उन्होंने उस फोटो के साथ कुछ किया था या नहीं लेकिन देख कर लगा कि देश में उसका शरीर सबसे बेहतरीन में से एक में है। हां, उसे और क्रिकेट खेलना चाहिए। क्योंकि उसके पास काफी काबिलियत है। अगर वह फिट है, उसे टेस्ट क्रिकेट भी खेलना चाहिए।''

विश्व क्रिकेट में पांड्या शानदार ऑलराउंडर में से एक हैं। लेकिन चोट के कारण उनका करियर उतार-चढ़ाव भरा रहा है। चोट के कारण ही वह टेस्ट क्रिकेट से दूर हुए हैं। हालांकि पंड्या ने कहा है कि वह अभी भी टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए प्रतिबद्ध हैं और पूरी फिटनेस हासिल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं।

रवि शास्त्री, एमएसके और पाटिल ने मिलकर चुनी भारत की एशिया कप स्क्वॉड, 15 खिलाड़ियों की लिस्ट में तिलक वर्मा

हार्दिक पांड्या ने अपना आखिरी टेस्ट मैच इंग्लैंड के खिलाफ अगस्त 2018 में खेला था। कपिल देव ने आगामी वनडे विश्व कप में भारत को लेकर अपनी राय दी। उन्होंने कहा, ''उन्हें पहले टॉप-4 में आने जरूरत है। उसके बाद कुछ भी संभव है। आपको सेमीफाइनल से किस्मत की भी जरूरत होती है और चीजें आपके हक में भी हों। लेकिन सबसे जरूरी बात ये है कि टॉप-4 में पहुचें।''

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें