फोटो गैलरी

Hindi News क्रिकेटकेन विलियमसन ने टूटे अंगूठे से दिखाया पाकिस्तानी गेंदबाजों को आइना, शतक से कम नहीं ये पारी

केन विलियमसन ने टूटे अंगूठे से दिखाया पाकिस्तानी गेंदबाजों को आइना, शतक से कम नहीं ये पारी

पाकिस्तान के खिलाफ न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने शानदार 95 रनों की पारी खेली, जो किसी शतक से कम नहीं थी, क्योंकि वे अंगूठे में फ्रैक्चर से उबरने के बाद टीम में वापसी कर रहे थे। 

केन विलियमसन ने टूटे अंगूठे से दिखाया पाकिस्तानी गेंदबाजों को आइना, शतक से कम नहीं ये पारी
Vikash Gaurलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 04 Nov 2023 01:58 PM
ऐप पर पढ़ें

न्यूजीलैंड टीम के कप्तान केन विलियमसन के लिए ये साल अच्छा नहीं रहा। वे आईपीएल 2023 के पहले ही मैच में चोटिल होकर टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे। एंटीरियर क्रूसिएट लिगामेंट (ACL) की चोट का शिकार हो गए थे, जिसकी सर्जरी उन्होंने कराई और कई महीनों तक क्रिकेट की दुनिया से दूर रहे। हालांकि, उनमें दिमाग में वर्ल्ड कप 2023 था और इसके लिए उन्होंने समय पर रिकवर होने के लिए पूरा दम लगाया। हालांकि, शुरुआत के कुछ मैचों में नहीं खेले, लेकिन टीम के लिए तीसरी मैच में वे नजर आए, जहां उनको अंगूठे में फ्रैक्चर हो गया। अब कुछ मैचों में बाहर बैठने के बाद उन्होंने बिना 100 फीसदी फिट हुए कमबैक किया और पाकिस्तान के पेसर्स के परखच्चे उड़ा दिए। 

दाएं हाथ के बल्लेबाज केन विलियमसन ने पाकिस्तान के खिलाफ 79 गेंदों में 10 चौके और 2 छक्कों की मदद से 95 रनों की पारी खेली। ये शतकीय पारी तो नहीं है, लेकिन ये पारी किसी शतक से भी कम नहीं है, क्योंकि टूटे अंगूठे के साथ वापसी करना और वर्ल्ड कप के एक अहम मैच में बड़ी पारी खेलना अपने आप में बड़ी बात है। पाकिस्तान के लिए ये मैच जितना अहम है, उतना ही न्यूजीलैंड के लिए अहम है। इसके अलावा ये पारी इसलिए भी अहम है, क्योंकि पाकिस्तान ने टॉस जीतकर गेंदबाजी करने का फैसला किया था और टीम को एक विकेट मिला भी, लेकिन जिस तरह से कप्तान केन विलियमसन ने पारी को संभाला, उसके लिए उनकी जितनी तारीफ की जाए, उतनी कम है।   

ये भी पढ़ेंः प्रसिद्ध कृष्णा को इस वजह से मिली है भारत की वर्ल्ड कप 2023 स्क्वॉड में जगह, जानिए कारण 

केन विलियमसन ने जिस तरह से अपनी रिकवरी पर ध्यान दिया और एक-एक कदम वे आगे बढ़े। वर्ल्ड कप 2023 के अभ्यास मैचों में उन्होंने बल्लेबाजी की थी, लेकिन लीग फेज के दो मैचों में नहीं खेले। वह जानते थे कि रीयल मैच प्रेशर अलग होता है और वहां चोट लगी तो फिर वे टूर्नामेंट से बाहर हो सकते हैं। हालांकि, जब उन्होंने वापसी की तो बल्लेबाजी के दौरान थ्रो उनके उस हाथ के अंगूठे पर लगा, जहां ग्लव्स में प्रोटेक्शन नहीं होता। यही वजह थी कि उनको फ्रैक्चर हुआ, जिससे उबरने में उनको समय लगा, लेकिन वापसी करते हुए दमदार पारी खेली। पाकिस्तान की टीम इस मैच में चार पेसर्स के साथ उतरी और उन्होंने सभी गेंदबाजों के खिलाफ रन बनाए, लेकिन आउट स्पिनर के खिलाफ छक्का जड़ने के चक्कर में हुए। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें